यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्जीवाड़े का मास्टरमाइंड निकला फर्जी एसडीओ


🗒 सोमवार, जनवरी 31 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
फर्जीवाड़े का मास्टरमाइंड निकला फर्जी एसडीओ

फतेहपुर, । शादीपुर गैस एजेंसी के समीप घरों में बिजली बिलों की जांच कर रुपयों की वसूली करने वाले फर्जी विद्युत उपखंड अधिकारी (एसडीओ) को रविवार को जेल भेज दिया गया। उसके पास से बरामद बाइक पर आगे और पीछे अलग-अलग नंबर पड़े थे। पीछे वाली प्लेट में ट्रैक्टर का नंबर था। हालांकि, बाइक उसके पिता रामकिशोर मिश्रा के नाम है। उनसे भी पुलिस ने पूछताछ की।शहर के नई बस्ती राधानगर मोहल्ला निवासी संजय उर्फ संजीव मिश्रा को बिजली विभाग के कर्मियों ने शादीपुर मोहल्ले में बिजली बिल वसूली करते हुए रंगे हाथ पकड़ा था। बिजली वितरण उपखंड प्रथम अधिकारी संजय कुमार से सिराजुल हसन, सुशीला देवी व वीरेंद्र कुमार ने रुपये वसूलने की शिकायत की थी। उन्होंने कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर फर्जी एसडीओ को पुलिस के सिपुर्द कर दिया था। पुलिस ने फर्जी एसडीओ पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है।शनिवार देर रात एक बजे फर्जी एसडीओ संजय उर्फ संजीव मिश्रा की हालत खराब हो गई। इस पर उसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। डा. आरबी सिंह व फार्मासिस्ट सुनील साहू ने बताया कि वह उलटा-सीधा बोल रहा था। रविवार सुबह हालत ठीक होने पर उसे डिस्चार्ज कर दिया गया। हरिहरगंज पुलिस चौकी प्रभारी धीरेंद्र कुमार पांडेय ने बताया कि मेडिकल परीक्षण कराने के बाद उसे जेल भेजा गया है। शहर कोतवाली प्रभारी अरुण कुमार चतुर्वेदी ने बताया कि आरोपित के स्वजन उसे मानसिक रूप से बीमार बता रहे हैं। इसीलिए रात में अस्पताल भेजा गया था। उसके पास से दो आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल), क्राइम ब्रांच दिल्ली के एसआइ का फर्जी पहचान पत्र, कुछ समाचार पत्रों के प्रेस कार्ड, बाइक आदि बरामद हुई, जबकि रसीदें नहीं मिलीं।