यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

प्रेम प्रसंग में प्रेमी ने चाकू से वार कर की प्रेमिका की हत्या


🗒 सोमवार, अक्टूबर 11 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
प्रेम प्रसंग में प्रेमी ने चाकू से वार कर की प्रेमिका की हत्या

गाजीपुर। नोनहरा थाना क्षेत्र के पकवाइनार के सक्करपुर गांव में प्रेमी ने प्रेमिका की चाकू मारकर हत्या कर दी। आरोपित अभिषेक ने खुद पुलिस को फोन कर इसकी सूचना दी। सोमवार की देर शाम इस वारदात से सनसनी फैल गई। एसपी रामबदन सिंह ने मौका मुआयना किया। एहतियातन बड़ी संख्या में फोर्स तैनात कर दी गई है।अभिषेक यादव का करीब चार साल से युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। प्रेमिका की दूसरी जगह शादी की बात चल रही थी। परिवार के लोग इसी नवरात्र में बरक्षा करने वाले थे। ऐसे में आरोपित दबाव बना रहा था कि शादी से इनकार कर दो। शाम को उसने एक बार फिर उसे बुलाकर साथ भाग चलने को कहा। न मानने पर उसने चाकू घोपकर मौत के घाट उतार दिया। एसपी रामबदन सिंह ने बताया कि प्रेम प्रपंच में हत्या हुई है। आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है।बलिया शहर कोतवाली क्षेत्र के माफी पिपरा गांव में एक सिरफिरे आशिक ने रविवार को सुबह साढ़े 11 बजे युवती को गोली मार दी। बाद में उसने खुद पर भी फायर झोंक दिया। वारदात के दौरान दोनों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। घटना से शहर में सनसनी फैल गई। पुलिस के अनुसार मामला प्रेम प्रपंच का है, इसी के इर्द-गिर्द जांच चल रही है। पुलिस को मौके से एक पिस्टल, दो खोखा और एक जिंदा कारतूस बरामद हुआ है। मौके पर अपर पुलिस अधीक्षक और सीओ समेत कई पुलिस अधिकारी पहुंच गए। युवती के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।माफी पिपरा निवासी नूर मुहम्मद बड़े टेंट कारोबारी हैं। एनएच 31 पर उनका मकान है। अगले हिस्से में दुकान है जबकि पीछे उनका परिवार रहता है। सुबह उनकी 22 वर्षीय बेटी रूबीना खातून अपने कमरे मेें छोटी बहन रूबी के साथ चाय पी रही थी। इसी बीच अचानक 25 वर्षीय आजम कमरे में दाखिल हो गया। उसने रूबी को कमरे से बाहर निकाल दिया, फिर रूबीना से अपनी शादी को लेकर बातचीत करने लगा। बमुश्किल दो मिनट भी नहीं गुजरे थे कि अचानक उसने कमर में रखी पिस्टल निकाल ली और रूबीना पर तान दी। चेहरे (गर्दन के ऊपर) पर निशाना साधते हुए गोली चला दी। इसके तुरंत बाद आजम ने अपने सिर के ऊपर हिस्से पर भी गोली मार ली। इसके चलते दोनों फर्श पर गिरकर तड़पने लगे। उधर एक के बाद एक चली गोली की आवाज सुनकर स्वजन डर गए। उन्होंने खुद को अपने कमरों में बंद कर लिया। थोड़ी देर बाद जब वे बाहर निकले तो दोनों निढाल पड़े हुए थे। यह देख वे सन्न रह गए। नजदीक जाकर देखा तो आजम की मौत हो चुकी थी, लेकिन युवती की सांसें चल रही थी। स्वजन युवती को तत्काल अस्पताल ले गए, लेकिन वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।