यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

गाजीपुर में चचेरे भाई की पीट-पीट कर हत्या


🗒 रविवार, अक्टूबर 17 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
गाजीपुर में चचेरे भाई की पीट-पीट कर हत्या

गाजीपुर। दिलदारनगर थाना क्षेत्र के बभनौलिया गांव में शनिवार की रात एक वृद्ध को पड़ोस के किशोर को डांटना महंगा पड़ गया। लाठी-डंडे से लैस होकर पहुंचे किशोर के स्वजनों ने वृद्ध के चचेरे भाई राजनाथ (55) की मारपीट कर जान ले ली। वहीं बीच-बचाव में पहुंची पत्नी गुलाबी देवी (45) व पुत्र प्रदीप (32) को भी घायल कर दिया। घटना के बाद पूरे गांव में अफरा-तफरी का माहौल हो गया। आनन-फानन भारी संख्या में पुलिस भी पहुंच गई और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। भाई मोती राम की तहरीर पर पुलिस पांच लोगों के विरूद्ध नामजद मुकदमा पंजीकृत कर हत्यारों की गिरफ्तारी में जुट गई है। एसपी रामबदन सिंह व क्षेत्राधिकारी हितेंद्र कृष्ण गांव में पहुंचकर घटना की जानकारी ली।बभनौलिया गांव निवासी जज प्रसाद का पुत्र आशीष वृद्ध मोती राम को चिढ़ा रहा था। इस पर उन्होंने किशोर को डांट कर भगा दिया। आशीष घर जाकर अपने पिता जज प्रसाद से इसकी शिकायत की। इस पर पिता स्वजन संग लाठी-डंडे से लैस होकर मोती राम के घर चढ़ गए, लेकिन मोती राम दुकान बंद करने चले गए थे। इस पर जज प्रसाद अपने पुत्र को डांटने के बारे में मोती राम के चचेरे भाई राजनाथ राम से पूछने लगे। आपसी तू-तू, मैं-मैं के बाद दोनों पक्षों के बीच विवाद हो गया और मारपीट होने लगी। इसमें राजनाथ (50) गंभीर रूप से घायल हो गए। बीच-बचाव में पहुंची पत्नी गुलाबी देवी (45) व पुत्र प्रदीप (32) भी घायल हो गए। स्वजन आनन-फानन में राजनाथ सहित पत्नी व पुत्र को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे, जहां उपचार के दौरान राजनाथ की मौत हो गई। सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई, लेकिन मारपीट करने वाले भाग निकले थे। वहीं जज प्रसाद के परिवार वालों ने बताया की वृद्ध मोती राम द्वारा पुत्र आशीष को मारपीट कर गाली-गलौज दिया गया। घर जाकर पूछने पर फिर मारपीट करने लगे। थाना निरीक्षक कमलेश पाल ने बताया कि मोती राम की तहरीर पर पांच के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है।मोती राम ने जज प्रसाद, जयराम, भरत राम, शशि राम और संदीप राम के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराया है। पुलिस सभी की गिरफ्तारी में जुट गई है।जज प्रसाद को जैसे जानकारी हुई कि राजनाथ की मौत हो गई है, सभी स्वजन घर से फरार हो गए। घर की महिलाएं भी इधर-उधर चली गईं। पुलिस गिरफ्तारी के लिए उनके ठिकानों पर दबिश दे रही है। बताया जा रहा है कि जज प्रसाद रेलकर्मी है, दिलदारनगर में ड्यूटी करता है। घटना को लेकर पूरे गांव में तनावपूर्ण माहौल हो गया है, जिसको देखते हुए पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है।