यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बेनी प्रसाद वर्मा को मिली अस्पताल से छुट्टी, घुटना प्रत्यारोपण के लिए हुए थे भर्ती


🗒 गुरुवार, अगस्त 08 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

समाजवादी पार्टी के नेता और राज्यसभा सदस्य बेनी प्रसाद वर्मा को बृहस्पतिवार को वैशाली के मैक्स अस्पताल से छुट्टी मिल गई। उनके दोनों घुटनों का ऑपरेशन कर उन्हें प्रत्यारोपित किया गया है। ऑपरेशन के बाद अब वह पूरी तरह स्वस्थ हैं और चल सकते हैं।बता दें कि करीब 15 दिन पहले राज्यसभा सदस्य बेनी प्रसाद वर्मा को वैशाली के मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनकी सर्जरी करने वाले वरिष्ठ ऑर्थोपीडिक सर्जन डॉ. अखिलेश यादव ने बताया कि बेनी प्रसाद वर्मा के दोनों घुटने काम नहीं कर रहे थे।इसके बाद उनके पहले बाएं और बाद में दाएं धुटने का ऑपरेशन किया गया है। घुटनों का प्रत्यारोपण सफल हो गया है। इसके बाद बृहस्पतिवार को उन्हें अस्पताल से घर भेज दिया गया है। ऑपरेशन के बाद वह आराम से चल पा रहे हैं। हालांकि कुछ दिन उन्हें वॉकर का सहारा लेने को कहा गया है।नी रिप्लेसमेंट सर्जरी (घुटना प्रत्यारोपण) से पहले बेनी प्रसाद के सभी रूटीन चैकअप किये गए थे। जिनमें वह पूरी तरह स्वस्थ पाए गए थे। मैक्स अस्पताल के ऑर्थो सर्जन डॉक्टर अखिलेश यादव उनका ऑपरेशन किया था।बेनी प्रसाद वर्मा समाजवादी पार्टी के संरक्षक और पूर्व अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के करीबी माने जाते हैं। उनकी गिनती सपा के उन नेताओं में होती है जिन्होंने पार्टी की बुनियाद रखी थी। हालांकि बेनी प्रसाद 2006-07 में सपा को छोड़कर चले गए थे। उन्होंने पहले क्रांति दल बनाया और उसके बाद कांग्रेस में शामिल हो गए। करीब 3 साल पहले वह दोबारा सपा में शामिल हो गए।बता दें कि सपा के टिकट से 1996 में उन्होंने पहली बार कैसरगंज संसदीय सीट से जीत दर्ज की थी। इसके बाद 1998, 1999 व 2004 तक इस सीट पर उनका कब्जा बरकरार रहा। फिर 2009 में उन्होंने सपा से किनारा कर कांग्रेस का दामन थामा और कैसरगंज छोड़कर गोंडा संसदीय सीट से फिर सफलता की सीढ़ी चढ़ने में सफल रहे। वे मौजूदा समय में उत्तर प्रदेश से सपा से राज्यसभा सांसद हैं।सपा नेता बेनी प्रसाद वर्मा का जन्म 11 फरवरी 1941 को उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में हुआ था। इस समय उनकी उम्र करीब 78 साल है। अपने बयानों के जरिए चर्चा में रहने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा तीन साल पहले ही कांग्रेस से सपा में वापस लौटे हैं। कांग्रेस में शामिल होने के बाद पार्टी ने उन्हें मनमोहन सरकार में मंत्री बनाया था। इसके अलावा वे अखिल भारतीय कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) के सदस्य भी थे। सपा में वापसी के बाद उन्हें राज्यसभा भेजा गया। बता दें कि बनी प्रसाद वर्मा मुलायम सिंह की सरकार में बेसिक शिक्षा मंत्री भी रहे हैं।

बेनी प्रसाद वर्मा को मिली अस्पताल से छुट्टी, घुटना प्रत्यारोपण के लिए हुए थे भर्ती

गाजियाबाद से अन्य समाचार व लेख

» गाजियाबाद में कोरोना वायरस को लेकर अफवाह फैलाने में दर्ज हुई पहली FIR

» गाजियाबाद एनएच- 9 पर मिट्टी ढहने से दबे पांच मजदूर, एक की हुई दर्दनाक मौत

» गाजियाबाद के लोनी से विधायक नंद किशोर गुर्जर को मारपीट के मामले में भाजपा का नोटिस, सात दिन में मांगा जवाब

» UP सरकार ने खारिज की IMT की अर्जी, MP के सीएम कमलनाथ के बेटे से जुड़ा है मामला

» गाजियाबाद के इंदिरापुरम इलाके में युवती का बाथरूम में बनाया अश्लील वीडियो, कई महीने से कर रहा दुष्कर्म

 

नवीन समाचार व लेख

» अयोध्‍या में सुन्नी वक्फ बोर्ड को सौंपी गई मस्जिद की जमीन, बैठक में तय होगी आगे की रणनीत‍ि

» यूपी में बातें रामराज की पर हकीकत जंगलराज से भी बदतर - अखिलेश यादव

» यूपी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह कोरोना पॉजिटिव

» यूपी में 3953 नए कोरोना पॉजिटिव मिले, प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 90 हजार पार

» पीस पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष पर एनएसए लगाने की तैयारी, धार्म‍िक भावना भड़काने में हुई है ग‍िरफ्तारी