गाजियाबाद एनएच- 9 पर मिट्टी ढहने से दबे पांच मजदूर, एक की हुई दर्दनाक मौत

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

गाजियाबाद एनएच- 9 पर मिट्टी ढहने से दबे पांच मजदूर, एक की हुई दर्दनाक मौत


🗒 सोमवार, फरवरी 17 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
गाजियाबाद एनएच- 9 पर मिट्टी ढहने से दबे पांच मजदूर, एक की हुई दर्दनाक मौत

एनएच-9 पर इन दिनों दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य चल रहा है। कोलंबिया एशिया अस्पताल के सामने सोमवार को हाईवे की मिट्टी ढहने से पांच मजदूर दब गए। इसमें एक मजदूर की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि आसपास के लोगों ने दो मजदूरों को बचा लिया। इन दो मजदूरों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है । दो अन्य मजदूर खुद मिट्टी के ढेर से बाहर आ गए थे। किसी भी मजदूर के पास सुरक्षा उपकरण नहीं थे। घटना की जानकारी मिलने के बाद कविनगर पुलिस और एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची, जिन्होंने करीब एक घंटे तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया, लेकिन मिट्टी में कोई मजदूर नहीं मिला।मूलरूप से औरया जनपद के रहने वाले आठ मजदूर (बबलू, अब्दुल, धर्मवीर, उमेश, शिवम, पंकज, अंशु और अमित) कोलंबिया एशिया अस्पताल के सामने पाइप लाइन डालने का काम कर रहे थे। इसके लिए एनएचएआई के अधिकारियों ने क्रेन से पहले ही मिट्टी खुदवा रखी थी, जिसमें मजदूर लाइन बिछा रहे थे।शाम करीब साढ़े चार बजे हाईवे किनारे पड़ा मिट्टी का ढेर मजदूरों पर ढह गया, जिसमें पांच मजदूर दब गए। इसमें मौके पर ही दोवा( औरया) के रहनेवाले अंशु की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि गांव मुगरिया निवासी अमित और पंकज घायल हो गए। जिन्हें मौके पर मौजूद लोगों ने निकालकर कोलंबिया अस्पताल में भर्ती कराया, जहां दोनों का इलाज चल रहा है।वहीं, अन्य मजदूर खुद मिट्टी के ढेर से बाहर आ गए। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और उन्होंने रेस्क्यू के लिए एनडीआरएफ की टीम को बुलाया। सूचना पर एनडीआरएफ की एक टीम पहुंची, जिसे आसपास खड़े लोगों ने सूचना दी कि इसमें और भी मजदूर दबे हो सकते हैं। इसके बाद एनडीआरएफ की टीम ने करीब एक घंटे तक डॉग स्क्वायड के साथ रेस्क्यू ऑपरेशन किया, लेकिन बाद में कोई मजदूर नहीं मिलने टीम लौट गई।वहीं, एसपी सिटी मनीष मिश्र का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। घायलों का निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। वहीं, स्वजनों की ओर से अब तक कोई तहरीर नहीं दी गई है। तहरीर आने पर ही मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

गाजियाबाद से अन्य समाचार व लेख

» मौत के 'ठेकेदार' का सनसनीखेज खुलासा, काम के बदले दी थी 16 लाख की रिश्‍वत

» उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा- मोदी-योगी पर है देश की जनता को विश्वास

» विधायक अजीत पाल त्यागी के मामा का मर्डर, मॉर्निंग वॉक के दौरान बदमाशों ने गोलियों से भून डाला

» गाजियाबाद में कोरोना वायरस को लेकर अफवाह फैलाने में दर्ज हुई पहली FIR

» गाजियाबाद के लोनी से विधायक नंद किशोर गुर्जर को मारपीट के मामले में भाजपा का नोटिस, सात दिन में मांगा जवाब

 

नवीन समाचार व लेख

» महोबा-क्रिकेट टूर्नामेन्ट निखार रहे खिलाड़ियो की प्रतिभा: नरेश पाठक

» सेना में नौकरी दिलाने वाले गैंग का भंडाफोड़, पूर्व सैनिक समेत दो गिरफ्तार

» नेता क्वारंटाइन और आइसोलेशन में कार्यकर्ता - सीएम योगी

» पीएम मोदी के अच्छे काम आगे बढ़ा रहे सीएम योगी - जेपी नड्डा

» आम उपभोक्ताओं को महंगाई का खामियाजा