यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

छह मह‍िलाओं पर रंगदारी का मुकदमा दर्ज


🗒 सोमवार, अगस्त 08 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
छह मह‍िलाओं पर रंगदारी का मुकदमा दर्ज

गोरखपुर, । दुष्कर्म, लूट, छेड़खानी व दलित उत्पीड़न का फर्जी मुकदमा दर्ज कराकर ब्लैकमेल करने वाले नफीसा गैंग के खिलाफ कैंट थाना पुलिस ने साजिश के तहत जालसाजी कर रंगदारी मांगने और धमकी देने का मुकदमा दर्ज किया है।आठ सदस्यों के गिरोह में नफीसा समेत छह महिलाएं हैं। यह कार्रवाई कैंपियरगंज के रहने वाले व्यापारी की शिकायत पर हुई है।कैंपियरगंज के पचमा गांव में रहने वाले व्यापारी खालिद उर्फ जियाउर्रहमान ने एसएसपी को प्रार्थना पत्र देकर बताया था कि सिद्धार्थनगर जिले के लोटन थानाक्षेत्र खीरिडीहा की रहने वाली नफीसा का मायका उनके गांव में है। वह गैंग चलाती है जिसमें बिंद्रावती, सोनी, आरती, इंद्रावती, तारा चौहान, कैंपियरगंज के सोनौरा खुर्द निवासी माधव तिवारी व कई अन्य लोग सदस्य हैं।इस गिरोह ने उनके अलावा रफाकत, सलीम, सरफराज, शहनवाज, समीम, विजय, सुभाष यादव के अलावा कई सभ्रांत व्यक्ति, रेलवे व अन्य विभाग के सरकारी कर्मचारियों पर कोर्ट में प्रार्थना पत्र देकर दुष्कर्म, लूट व दलित उत्पीड़न का फर्जी मुकदमा दर्ज कराया है।झूठी गवाही कराकर जेल भेजने की धमकी देकर यह लोग अब तक 15 से 20 लाख रुपये वसूल चुके हैं। 30 जुलाई की शाम उनके घर पहुंची नफीसा उनसे पांच लाख रुपये मांग रही थी। मना करने पर जेल भेजवाने की धमकी दे रही है। एसपी सिटी कृष्ण कुमार विश्नोई ने बताया कि सीओ कैंट की जांच में आरोप की पुष्टि होने पर आरोपितों के खिलाफ कैंट थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।खालिद का आरोप है कि बेलीपार की रहने वाली सोनी नाम की युवती अलग-अलग पता बताकर तीन लोगों पर दुष्कर्म व दलित उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करा चुकी है।मुकदमा दर्ज होने के बाद तीनों मामले में उसे पीडि़त को मिलने वाला सरकारी अनुदान का लाभ मिला है।पुलिस की जांच में पता चला कि नफीसा के खिलाफ कैंट थाने में हत्या की कोशिश और बिंद्रावती पर बेलीपार थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज है।माधव तिवारी के संरक्षण में यह गिरोह चलता है।