यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

झोलाछाप डॉक्टर की लापरवाही से गई थी बालक की जान, आरोपित गिरफ्तार


🗒 बुधवार, अगस्त 10 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
झोलाछाप डॉक्टर की लापरवाही से गई थी बालक की जान, आरोपित गिरफ्तार

गोरखपुर , । गोरखपुर जिले के खजनी थाना क्षेत्र के कंदराई में झोलाछाप की लापरवाही से एक बालक की जान चली गई थी। पुलिस झोलाछाप विजय पासवान निवासी सिसवा महराजगंज के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके उसकी तलाश कर रही थी। बुधवार की सुबह पुलिस ने उसे कैंट थाना क्षेत्र के इंजीनियरिंग कालेज के पास से गिरफ्तार किया है।कंदराई निवासी लालचंद यादव का 12 वर्षीय पुत्र प्रिंस यादव पांचवी में पढ़ता था। आठ दिन से उसके दाहिने पैर का अंगूठे में नाखून धंस रहा था। वह गांव में ही झोलाछाप विजय पासवान उसका इलाज कर रहा था। विजय पासवान तीन माह से गांव के ही कंता गुप्ता के मकान में किराये पर कमरा लेकर अपनी प्रैक्टिस कर रहा था। प्रिंस की मां सोमवार की शाम को विजय से अपने बेटे के पैर पर बैंडेज लगवाने गई थी। प्रिंस की मां पूनम ने बताया कि विजय ने उसके बेटे के पैर की पट्टी खोली और उसे दो इंजेक्शन दे दिया। इंजेक्शन लगने के बाद प्रिंस की तबीयत और खराब हो गई। उसके मुंह से झाग आने लगा।झोलाछाप ने पूनम को रुपये लाने के लिए घर भेजा और प्रिंस को लेकर वह जिला अस्पताल निकल गया। इस दौरान वहां पूनम अपने जेठ के लड़के साथ पहुंच गई। उन्हें देखकर विजय चकमा देकर वहां से भाग निकला। जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने प्रिंस को मृत घोषित कर दिया था। आरोपित के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके पुलिस ने आरोपित विजय पासवान को कैंट थाना क्षेत्र के इंजीनियरिंग कालेज के पास से गिरफ्तार किया है।चौकी प्रभारी महुआडाबर जीतेश श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपित विजय पासवान के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके उसकी तलाश की जा रही थी। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे जेल भेजने की तैयारी की जा रही है।