यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जिला गोरखपुर में युवक की चाकू घोंपकर हत्या, विरोध में गोरखपुर-वाराणसी हाईवे जाम


🗒 मंगलवार, जून 11 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

गोरखपुर के बड़हलगंज क्षेत्र के बैदौली खुर्द में सोमवार देर शाम कुछ लोगों ने गांव के ही शशिकांत को राड से पीटकर घायल करने के बाद चाकू घोंपकर मौत के घाट उतार दिया। हमले में उनके भाई जीतेंद्र गौड़ घायल हो गए। घटना की वजह रास्ते का पुराना विवाद बताया जा रहा है। हमलावरों के दूसरे समुदाय का होने की वजह से एहतियात के तौर पर गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है। हत्‍या के विरोध में लोगों ने मंगलवार को गोरखपुर-वाराणसी हाईवे जाम कर दिया है।बैदौली खुर्द निवासी नंदलाल के पुत्र शशिकांत और उनके भाई जीतेंद्र गांव के बाहर अपने बाग में गए थे। इसी बीच तेज हवा चलने लगी। इससे पेड़ से टूटकर गिर रहे आम के फल वे एकत्र कर रहे थे। इसी दौरान राड और लाठी-डंडे से लैस आधा दर्जन लोगों ने उन पर हमला कर दिया। दोनों भाइयों को घायल करने के बाद हमलावरों में से किसी ने शशिकांत के सीने में बाई तरफ चाकू से ताबड़तोड़ दो वार कर दिया।हमलावरों के चंगुल से किसी तरह निकले जीतेंद्र के शोर मचाने पर गांव के लोग बाग में पहुंचे। हालांकि हमलावर फरार हो चुके थे। शशिकांत को स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस के मुताबिक नंदलाल के परिवार का गांव के ही मजहर अंसारी के परिवार से वर्ष 2004 से रास्ते का विवाद चलता है। उसी रंजिश में शशिकांत की हत्या हुई है। वे चार भाइयों में सबसे छोटे थे। सबसे बड़े भाई जीतेंद्र, पत्नी और बच्‍चों के साथ गांव में रहते हैं। दो अन्य भाइयों के साथ शशिकांत गुवाहाटी में रहकर कमाते थे। कुछ दिन पहले ही घर आए थे। उनके पिता का पहले ही निधन हो चुका है।

जिला गोरखपुर में युवक की चाकू घोंपकर हत्या, विरोध में गोरखपुर-वाराणसी हाईवे जाम

स्वास्थ्य केंद्र पर डाक्टरों के शशिकांत को मृत घोषित कर देने के बाद आक्रोशित ग्रामीणों का एक समूह हमलावरों के घर पहुंच गया। उग्र लोगों ने उनके घरों पर पथराव शुरू कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने समझा-बुझाकर लोगों को शांत कराया।हमलावरों के विरुद्ध तत्काल कार्रवाई की मांग करते हुए परिजनों ने शव को पुलिस के हवाले करने से इन्कार कर दिया। गोला के उपजिलाधिकारी और क्षेत्राधिकारी उन्हें समझाने के प्रयास में जुटे थे लेकिन परिजन आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे। देर रात तक पुलिस, शव को कब्जे में नहीं ले पाई थी।स्थिति की संवेदनशीलता को देखते हुए आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए तीन थानों की पुलिस लगाई गई है। पुलिस अधीक्षक दक्षिणी के निर्देश पर गोला, बड़हलगंज और गगहा थाने से गठित टीम हमलावरों की तलाश में उनके संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है, हालांकि समाचार लिखे जाने तक किसी हमलावर की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी। रात डेढ़ बजे ग्रामीणों को समझाबुझाकर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। रात भर गांव में पुलिस तैनात रही। सुबह होते ही गांव के लोग गांव के सामने ही गोरखपुर-वाराणसी राजमार्ग को जाम कर दिया। लोग हत्यारोपित की गिरफ्तारी व तत्काल विवादित रास्ता बनाने की मांग कर रहे हैं। मौके पर उपजिलाधिकारी अरुण कुमार सिंह व क्षेत्राधिकारी सतीश चंद्र शुक्ल सहित बड़हलगंज, गोला व गगहा थाने की पुलिस मौजूद है। गांव में तनाव व्याप्त है़। जाम करने वाले लोग पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे हैं।

गोरखपुर से अन्य समाचार व लेख

» गोरखपुर मे OLX पर विज्ञापन देखकर किराए की कार से बाइक खरीदने आया, फ‍िर कार छोड़कर बाइक लेकर भाग गया

» मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लक्ष्य कर सोशल मीडिया पर अभद्र पोस्ट वायरल करने के आरोपित गिरफ्तार

» जिला गोरखपुर में कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया महिला का शव

» जिला कुशीनगर मे निजी एटीएम संचालक की आंखों में मिर्च झोंककर तीन लाख की लूट; विरोध पर बदमाशों ने किया फायर

» जिला गोरखपुर के घघसरा बाजार में पांच मिनट के भीतर दो बम धमाके, सनसनी

 

नवीन समाचार व लेख

» युवक की हत्या के बाद खेत में फेंका शव, नाक व कान से बह रहा था खून

» ताजमहल पर आज से नई शुरुआत, अब भ्रमण के लिए लीजिए मैग्‍नेटिक कॉइन जनाब

» मुजफ्फरनगर में बढ़ते अपराधों के खिलाफ वकीलों का आक्रोश, SSP दफ्तर पर प्रदर्शन

» ऐसा क्या राज है जिसके कारण आये दिन मथुरा नगरी में मिल रहे है अज्ञात शव?

» मेरठ में बच्‍ची को पढ़ाने के बहाने मदरसा ले गया मौलवी, कमरे में ले जाकर दि‍खाई दरिंदगी