यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

गोरखपुर के बड़हलगंज क्षेत्र में पूर्व जिला पंचायत सदस्य पर फायरिंग, एक युवक की मौत


🗒 सोमवार, अगस्त 05 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

गोरखपुर के बड़हलगंज क्षेत्र के डवनाडीह गांव में रविवार की रात ब्रह्मभोज से लौट रहे   पूर्व जिला पंचायत सदस्य श्याम नारायण यादव पर बदमाशों ने घात लगाकर फायरिंग की। संयोग से वह बच गए लेकिन उनके साथ आए शिव मौर्य की गोली लगने से मौत हो गई और उनका भतीजा तथा एक अन्य युवक घायल हो गए हैं। घटना की वजह भूमि विवाद की पुरानी रंजिश बताई जा रही है। विवाद में चार साल पहले भी एक एक युवक की हत्या हो चुकी है।डवनाडीह निवासी इंद्रासन यादव की माता जी का निधन हो गया था। रविवार को उनके ब्रह्मभोज में इंद्रासन यादव के चचेरे भाई और पूर्व जिला पंचायत सदस्य श्याम नारायण यादव भी आए हुए थे। उनके साथ भतीजा चंद्रशेखर उर्फ आजाद यादव व एक अन्य युवक भी था। बड़हलगंज क्षेत्र के ही कल्याणपुर मिश्रौली निवासी शिव मौर्य (30) और शैलेश यादव (32) भी ब्रह्मभोज में आए थे। रात में 10 बजे के आसपास खाना खाने के बाद श्याम नारायण यादव, भतीजे और साथ आए युवक के साथ घर लौट रहे थे। श्याम नारायण बाइक पर बीच में बैठे थे और उनका भतीजा पीछे। साथ आया युवक बाइक चला रहा था। शिव मौर्य और शैलेश यादव भी उसी समय एक बाइक से घर जाने के लिए निकले थे। अभी वे लोग इंद्रासन यादव के दरवाजे से निकले ही थे कि पहले से घात लगाए बदमाशों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी। इसमें शिव मौर्य की मौके पर ही मौत हो गई तथा आजाद यादव और शैलेश यादव घायल हो गए। आजाद यादव की हालत गंभीर है। पुलिस ने हमलावरों की एक बोलेरो और एक बाइक कब्जे में ले लिया है।पुलिस के मुताबिक श्याम नारायण यादव के परिवार का डवनाडीह निवासी जवाहिर यादव के परिवार से भूमि संबंधी विवाद है। इसी रंजिश में वर्ष 2013 में हुई मारपीट में जवाहिर यादव के परिवार के गिरजेश के यादव की मौत हो गई थी। इसके बाद श्याम नारायण यादव ने गांव छोड़ दिया था और मधुपुर चौराहे पर घर बनवा कर परिवार के साथ रह रहे हैं।  पुलिस ने दूसरे पक्ष के कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। फिलहाल तहरीर नहीं दी गई है।पूर्व जिला पंचायत सदस्य श्याम नारायण मौर्य को सुरक्षा के लिए सरकारी गनर मिला हुआ है। ब्रह्मभोज में जाते समय गनर को उन्होने घर पर ही छोड़ दिया था। क्षेत्राधिकारी गोला सतीश चंद्र शुक्ल ने बताया कि हमले के समय गनर के साथ क्यों नहीं था,इसकी जांच होगी।

गोरखपुर के बड़हलगंज क्षेत्र में पूर्व जिला पंचायत सदस्य पर फायरिंग, एक युवक की मौत

गोरखपुर से अन्य समाचार व लेख

» गोरखपुर के भोंपा बाजार में मुनीम को पिस्टल सटा 2.26 लाख लूटे

» गोरखपुर मे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, चार लाख पटरी व्यवसायियों का होगा पुनर्वास

» गोरखपुर में बेसिक शिक्षा विभाग की बड़ी लापरवाही उजागर मरने के पांच माह बाद तक शिक्षक को मिलता रहा वेतन

» जिला गोरखपुर में जाली दस्तावेज से पासपोर्ट बनवाने का भंडाफोड़, एक गिरफ्तार

» गोरखपुर में पूर्व विधायक राजेंद्र सिंह के बेटे की मौत

 

नवीन समाचार व लेख

» गिरफ्तार 4 तथाकथित पत्रकारों ने यूपी के कई अफसरों के लिए नाम, लखनऊ तक मचा हड़कंप

» UP की राज्यपाल आनंदीबेन ने गोद ली टीबी से ग्रसित बच्ची

» दक्षिण शैली के रंगजी मंदिर में लट्ठा का मेला का हुआ आयोजन

» विश्व हिन्दू परिषद स्थापना दिवस पर निकाली शोभायात्रा

» डीएम ने किया शूटिंग रेंज का निरीक्षण, बोले सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी