यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

गोरखपुर के समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा समाज के नेतृत्व का केंद्र बनें शिक्षण संस्थान


🗒 शनिवार, अगस्त 31 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शिक्षण संस्थाओं को समाज के नेतृत्व का केंद्र विंदु बनना होगा। इसके लिये उन्हें अपनी महती भूमिका समझनी होगी। औऱ यह तभी होगा जब यह संस्थाएं महज परंपरागत शिक्षण प्रणाली से इतर रचनात्मकता , नवाचार को स्थान देंगी। अपनी क्षेत्रीय सामाजिक, राजनैतिक, आर्थिक प्रकरणों की चर्चा, विमर्श करते हुए समाधान तक की राह सुझाएंगे। ऐसा आदर्श प्रस्तुत करें कि लोग अपनी समस्याओं के लिए इन संस्थाओं की ओर आशा भरी निगाहों से देखें। हमारा इतिहास साक्षी है कि यही शिक्षण संस्थान समाज की चेतना का केंद्र हुआ करते थे।सीएम शनिवार को दिग्विजय नाथ पीजी कॉलेज में स्थापना की 50वीं सालगिरह के अवसर पर आयोजित सात दिनी समारोह के समापन समारोह में अपने विचार रख रहे थे। मुख्यमंत्री ने महंत दिग्विजयनाथ द्वारा स्थापित महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के स्थापना उद्देश्यों की चर्चा करते  डीवीएनपीजी कॉलेज दवाइया ब्रह्मलीन महंत दिग्विजय नाथ के 125 वीं जन्म वर्ष और ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ के जन्मशती वर्ष को समारोह पूर्वक मनाये जाने पर  खुशी जताई। कहा कि हम अपनी शिक्षण संस्थाओं को कैसे समाजोपयोगी बनाएं इस पर विचार करना होगा।पाठ्यक्रम सैद्धान्तिक न हों व्यवहारिक हों। रचनात्मकता हो, समजकेन्द्रित हों, तभी वह अपनी असली जिम्मेदारी निभा सकेंगे। योगी ने कहा है कि क्षेत्रीय विकास प्राधिकरण स्थानीय शिक्षण संस्थाओं के साथ मिलकर विकास की कार्ययोजना तैयार करें। उन्होंने बताया कि, मैंने बुंदेलखंड, पूर्वांचल विकास बोर्डों को नाली खड़ंजा से ऊपर उठकर समग्र समन्वित विकास के लिए कार्ययोजना बनाने में स्थानीय शैक्षणिक संस्थानों से समन्वय बनाने का सुझाव दिया है। अब इसी तरह से काम हो रहा है।मुख्यमंत्री ने कहा कि गोरक्षपीठ सामाजिक सौहार्द और समरसता के उद्देश्य के साथ सतत प्रयत्न शील है, जो भी इस यात्रा का सहगामी है वह सौभाग्यशाली है, बधाई का पात्र है।

गोरखपुर के समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा समाज के नेतृत्व का केंद्र बनें शिक्षण संस्थान

समारोह के मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के चेयरमैन प्रो डीपी सिंह ने कहा है कि भारत की मूल चेतना आध्यत्मिक है। संतों ने हमेशा ही देश का मार्गदर्शन किया है। स्वामी विवेकानंद, महर्षि अरबिंदो, महात्मा गांधी, महामना मालवीय जैसे मनीषियों ने आरम्भ में ही समग्र शिक्षा की अवधारणा दी थी। वास्तव में शिक्षा केवल 'ब्रेन पावर' को डेवलप करे वह पूरी नहीं, 'हर्ट पावर' को भी विकसित करे, वही असली शिक्षा है। प्रेम, सौहार्द, करुणा, अहिंसा जैसे भाव यही हर्ट पावर से ही पनपेगा। आज पूरी दुनिया भारत की ओर आशा भरी निगाहों से देख रही है। योग का दर्शन आज पूरा विश्व स्वीकार कर रहा है।यूजीसी चेयरमैन प्रो सिंह ने कहा कि हमारे युवाओं का शारीरिक, मानसिक बौद्धिक, तकनीकी विकास के साथ साथ आध्यात्मिक विकास भी होना चाहिये। यह सही-गलत का भेद समझता है। इंसान होने का सही अर्थ बताता है। आध्यत्मिक विज्ञान के लिए एक उच्च संस्थान की आवश्यकता है। यूपी इसके लिए पहल करे तो खुशी होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में अगर ऐसा हो, तो इससे पुनीत और कुछ नहीं हो सकता।राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रस्तावित मसौदे का ज़िक़्र करते हुए उन्होंने बताया कि नई नीति पर करीब दो लाख सुझाव आये हैं। इन पर एमएचआरडी के स्तर पर विचार हो रहा है। यूजीसी अध्यक्ष ने बताया कि नई शिक्षा नीति भारत केंद्रित है। इंडिया, इंडियन इंडियानेस के भाव के साथ है नई शिक्षा नीति। उन्होंने कहा कि ग्लोबलाइज़ेशन का लाभ लेते हुए हमारे युवा पूरी दुनिया मे प्रतिष्ठित हो,यह नई शिक्षा नीति का मूलाधर है।प्रो डीपी सिंह ने डीवीएनपीजी महाविद्यालय को स्थापना के 50 वर्ष पूरा करने पर बधाई दी। इससे पहले बतौर विशिष्ट अतिथि आइआइटी बीएचयू के प्रो. वी रामानाथन ने दिग्विजयनाथ और अवेद्यनाथ को  धर्म रक्षार्थ जन्म लेने वाला महामानव बताया। रामानाथन ने छात्र-छात्राओं के नवाचारों पर ध्यान देने की सलाह की।

गोरखपुर से अन्य समाचार व लेख

» कुशीनगर में मदरसा संचालक सहित तीन के खिलाफ मुकदमा, गोरखपुर में 14 जमातियों की तलाश

» गोरखपुर मे सीएम योगी आदित्‍यनाथ पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले पर मुकदमा दर्ज

» गोरखपुर में संक्रमण से जिस युवक की हुई थी मौत, उसका करीबी भी निकला कोरोना संक्रमित

» सोशल मीडिया WhatsApp व Facebook पर अफवाह के लिए एडमिन होंगे जिम्मेदार

» यूपी के मंत्री ने लोगों को किया सतर्क, कहा- अफवाह फैलाने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

 

नवीन समाचार व लेख

» केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में लगाई गई थी आग, अज्ञात पर दर्ज हुई एफआइआर

» भाजपा सांसद सुब्रत पाठक पर गर्म हुई सियासत, अखिलेश, मायावती और अजय कुमार ने निंदा की

» प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी में भाजपा के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से फोन से बातचीत की

» यूपी सरकार के मंत्री हालात पर चिंतित निशाने पर तब्लीगी जमात

» बांदा -समाजसेबी पीसी पटेल रोजाना गरीबों को बांट रहे हैं सब्जी