यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

प्रदेश में औद्योगिक विकास का बेहतर माहौल - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ


🗒 बुधवार, दिसंबर 04 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में सुरक्षा का बेहतर माहौल है। संगठित अपराध पूरी तरह समाप्त हो गया है। किसी भी उद्यमी से कोई गुंडा टैक्स नहीं ले सकता है। ऐसे माहौल में यहां हर उद्यमी आना चाहता है। मुख्यमंत्री योगी बुधवार को गीडा (गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण) के स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में एनेक्सी भवन में उद्यमियों के सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि विकास के लिए सकारात्मक माहौल है। सरकार ने अलग-अलग फोकस सेक्टर की पॉलिसी बनाई है। इसमें जाति-धर्म के नाम पर कोई भेदभाव नहीं किया जाता है, कोई भी इनका लाभ ले सकता है। निवेश मित्र पोर्टल देश में सबसे अच्छा सिंगल विंडो सिस्टम है।मुख्‍यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सरकार बनने के बाद पहले इंवेस्टर्स मीट में ही पांच लाख करोड़ के निवेश के लिए एमओयू हस्ताक्षर किए गए और अब तक 1.5 लाख करोड़ का निवेश हो चुका है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अमेरिका व चीन के ट्रेड वार को देखते हुए भारत सरकार ने कारपोरेट टैक्स में जो रिबेट दी है, उससे बड़ी कंपनियां यहां आकर्षित हो रही हैं। एप्पल 12 हजार करोड़ रुपये का निवेश करने जा रहा है, संभावना है कि यह निवेश उत्तर प्रदेश में होगा। उन्होंने कहा कि जेवर में एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनने जा रहा है। उससे तीन साल में प्रदेश को एक लाख करोड़ रुपये मिलेंगे। इसके अलावा 11 और एयरपोर्ट बन रहे हैं। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का काम तेजी से चल रहा है। लिंक एक्सप्रेस वे को भी मंजूरी मिल चुकी है। इसके दोनों ओर औद्योगिक गलियारा बनाया जा रहा है। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का इसी महीने शिलान्यास करेंगे। मेरठ से प्रयागराज तक नया एक्सप्रेस वे बनाने की योजना है। 640 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेस वे का कार्य साल के अंत तक शुरू हो जाएगा। डिफेंस कॉरिडोर बनाया जाएगा। लखनऊ में डिफेंस एक्सपो का आयोजन किया जाएगा।उन्होंने कहा कि 2020 में गोरखपुर खाद कारखाना शुरू हो जाएगा। पिपराइच चीनी मिल शुरू है। अधिकारियों को उद्यमियों की समस्याओं का समाधान करने को कहा गया है। तीन महीने में मुख्य सचिव स्तर पर भी बैठकें होंगी। उन्होंने कहा कि समय-समय पर वह भी समस्याओं के निराकरण के लिए बैठक करेंगे।उन्होंने उद्यमियों से अपील की कि जीएसटी रिटर्न जरूर भरें और दूसरों को भी प्रेरित करें। उद्यमियों को नसीहत देते हुए उन्होंने कहा कि पिक एंड चूज की परंपरा में पड़कर की गई एक छोटी सी गलती जीवनभर की पंूजी को डुबो देती है। शार्टकट के चक्कर में कोई ऐसा काम न करें और न ही दूसरों को बाध्य करें, जिससे मुंह छुपाना पड़े और भविष्य में विकास की संभावनाएं समाप्त हो जाएं।मंडलायुक्त जयंत नार्लिकर ने सभी का स्वागत किया। कार्यक्रम आयोजक गीडा व फेडरेशन आफ इंडियन चैंबर्स आफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज (फिक्की) के काउंसिल सदस्य मनोज गुप्ता ने सम्मेलन के बारे में जानकारी दी। चैंबर आफ इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष वीपी अजित सरिया ने उद्यमियों से जुड़ी समस्याएं मुख्यमंत्री के समक्ष रखीं। गीडा के सीईओ संजीव रंजन ने आभार जताया।

प्रदेश में औद्योगिक विकास का बेहतर माहौल - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

गोरखपुर से अन्य समाचार व लेख

» कुशीनगर में मदरसा संचालक सहित तीन के खिलाफ मुकदमा, गोरखपुर में 14 जमातियों की तलाश

» गोरखपुर मे सीएम योगी आदित्‍यनाथ पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले पर मुकदमा दर्ज

» गोरखपुर में संक्रमण से जिस युवक की हुई थी मौत, उसका करीबी भी निकला कोरोना संक्रमित

» सोशल मीडिया WhatsApp व Facebook पर अफवाह के लिए एडमिन होंगे जिम्मेदार

» यूपी के मंत्री ने लोगों को किया सतर्क, कहा- अफवाह फैलाने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

 

नवीन समाचार व लेख

» केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में लगाई गई थी आग, अज्ञात पर दर्ज हुई एफआइआर

» भाजपा सांसद सुब्रत पाठक पर गर्म हुई सियासत, अखिलेश, मायावती और अजय कुमार ने निंदा की

» प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी में भाजपा के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से फोन से बातचीत की

» यूपी सरकार के मंत्री हालात पर चिंतित निशाने पर तब्लीगी जमात

» बांदा -समाजसेबी पीसी पटेल रोजाना गरीबों को बांट रहे हैं सब्जी