कुशीनगर में मदरसा संचालक सहित तीन के खिलाफ मुकदमा, गोरखपुर में 14 जमातियों की तलाश

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कुशीनगर में मदरसा संचालक सहित तीन के खिलाफ मुकदमा, गोरखपुर में 14 जमातियों की तलाश


🗒 रविवार, अप्रैल 05 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
कुशीनगर में मदरसा संचालक सहित तीन के खिलाफ मुकदमा, गोरखपुर में 14 जमातियों की तलाश

कुशीनगर के तरयासुजान स्थानीय थानाक्षेत्र के तमकुहीराज पुलिस चौकी अंतर्गत ग्राम सभा सुमहीबुजुर्ग ऊर्फ मेंहदिया में गैर प्रान्त से आकर  मदरसे का संचालन कर रहे प्रबंधक सहित तीन मौलवियों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के उलंघन के आरोप में मुकदमा दर्ज कर पुलिस मामले की जाँच कर रही है।दिल्ली जमात में शामिल हुए लोंगो की तलाश करने गई पुलिस को सूचना मिली की सुमही बुजुर्ग  ऊर्फ मेंहदिया में स्थित मदरसा तालीम कुरान लाकडाउन के वावजूद भी संचालित हो रहा है। प्रभारी निरीक्षक सुनील कुमार सिंह, रमेश पूरी चौकी इंचार्ज तमकुहीराज अपने साथ सिपाही जय मंगल यादव और बृजेश विश्वकर्मा को साथ लेकर पहुँचे और पाए की मदरसा संचालित हो रहा है। संचालक मौलवी और तालीम लेने वाले बच्चे सभी पड़ोसी मुल्क बिहार के है।तरयासुजानइस मामले में पुलिस संचालक शमशेर रजा पुत्र सहाबुद्दीन मरियम, कटिहार, एमडी आज़म पुत्र सिहरौल कटिहार व नुरैन पुत्र इकबाल हुसैन परसा  डुमरिया मझौलिया जिला वेतिया बिहार के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा -51 व 188, 269,  270 के तहत मुकदमा दर्ज कर जाँच कर रही है। प्रभारी निरीक्षक सुनील कुमार सिंह ने कहा की मामले की विवेचना की जा रही है।बमदरसे के बच्चों को उनके घर भेजवाया जा रहा है।दिल्ली के तब्लीगी जमात से लौटे 14 लोग लापता है। हर जिले में उनकी तलाश की जा रही है। गोरखपुर में उनको खोजने के लिए क्राइम ब्रांच की टीम को लगाया गया है। मस्जिदों और मुसाफिर खानों में उनकी तलाश की जा रही है। उत्तर प्रदेश से तब्लीगी जमात में शामिल होने वाले 157 लोगों की सूची सामने आई है। इस सूची में 14 नाम ऐसे हैं जिनका सिर्फ मोबाइल फोन नंबर ही मिला है। अन्य जमातियों का फोन नंबर के साथ ही पता भी मालूम चल गया है। पते के आधार पर उनकी तलाश कर इस बात का परीक्षण कराया जा रहा है कि कहीं वे कोरोना वायरस से संक्रमित तो नहीं हैं। जिन 14 जमातियों का पता नहीं चल पाया है, उनकी तलाश हर जिले में की जा रही है। उनका मोबाइल फोन बंद होने की वजह से तलाश में काफी मुश्किल आ रही है।लापता चल रहे जमातियों को गोरखपुर में खोजने के लिए क्राइम ब्रांच की टीम लगाई गई है। एसटीएफ की टीम को भी उनके बारे में पता लगाने का निर्देश दिया गया है। बता दें कि तब्लीगी जमात से लौटे काफी लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। उनके संपर्क में आने से बड़ी संख्या में दूसरे में भी संक्रमण फैलने के प्रमाण मिले हैं। इसीलिए लापता चल रहे 14 जमाती चिंता का विषय बने हुए हैं। क्योंकि यदि वे संक्रमित हुए तो उनके संपर्क में आने वाले लोगों में भी संक्रमण फैलाना तय है। इसीलिए सरगर्मी से उनकी तलाश की जा रही है।लापता चल रहे जमातियों की तलाश की जा रही है। अभी तक की छानबीन में उनके गोरखपुर आने का कोई संकेत नहीं मिला है। उन्हें तलाश करने का प्रयास जारी है। - प्रवीण सिंह, सीओ क्राइम

गोरखपुर से अन्य समाचार व लेख

» गोरखपुर में दिन दहाड़े स्‍कूटी सवार मां-बेटी को घेरकर गोली मारी, मां की मौत

» सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने दिव्यांगजनों में बांटे उपकरण

» सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने की घोषणा दो हजार करोड़ से बदलेगी गोरखपुर की तस्‍वीर

» पीएम नरेंद्र मोदी ने मित्रों संग मित्रता की, शत्रुओं को घर में घुसकर सबक सिखाया - CM योगी

» गोरखपुर में CM योगी आदित्‍यनाथ बोले-कोरोना के खिलाफ मजबूती से लड़ी जा रही लड़ाई

 

नवीन समाचार व लेख

» बिजनौर में पुलिस पर हमला करने वाले हिस्ट्रीशीटर समेत दो गिरफ्तार

» भाजपा नेता ने दी चेतावनी, कहा- दो दिन में नहीं हुई गिरफ्तारी तो शासन के खिलाफ दूंगा धरना

» गोरखपुर में दिन दहाड़े स्‍कूटी सवार मां-बेटी को घेरकर गोली मारी, मां की मौत

» मकनपुर में वायरल पोस्ट से हुए बवाल के बाद लोग घबराकर छोड़ रहे घर

» उन्नाव पुलिस पर कुमार विश्वास का कविता भरा करारा तंज, एसपी ने चौकी इंचार्ज पर की कार्रवाई