यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

गोरखपुर में प्रेमी के भेजे सिंदूर को मांग में लगाया तो भाई ने सगी बहन को फावड़े से काट डाला


🗒 शुक्रवार, अक्टूबर 30 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
गोरखपुर में प्रेमी के भेजे सिंदूर को मांग में लगाया तो भाई ने सगी बहन को फावड़े से काट डाला

गोरखपुर, गांव के युवक से प्रेम करना एक युवती को भारी पड़ा। युवती ने अपने प्रेमी द्वारा भेजे गए सिंदूर को अपनी मांग में लगा लिया। इससे आक्रोशित उसके भाई ने अपनी सगी बहन का गला काट डाला। मामला गोरखपुर के चिलुआताल थाना क्षेत्र का है। हत्या के बाद उसने यूपी 112 पर फोनकर सूचना दी और पुलिस के आने तक शव से कुछ दूरी पर बैठा रहा। पुलिस युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।   पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो आरोपित युवक घर के एक कमरे के दरवाजे पर बैठा था। कुछ ही दूरी पर भूसे वाले कमरे में 16 वर्षीय बहन का लहूलुहान शव और खून से सना फावड़ा पड़ा हुआ था। किशोरी के गले पर गहरे घाव थे। आरोपित ने पुलिस को बताया कि वह तीन भाइयों में सबसे बड़ा है। एक बहन की शादी हो चुकी है। छोटी बहन की गांव के एक युवक से दोस्ती थी। दोनों अक्सर फोन पर बातें करते थे। उसे यह पसंद नहीं था। युवक से बहन की दोस्ती की चर्चाओं के कारण वह खुद को अपमानित महसूस कर रहा था। इसीलिए 20 दिनों से अपनी दुकान पर नहीं जा रहा था। गुरुवार को पिता बाहर गए थे। छोटा भाई और मां भी नहीं थे। मौका पाकर उसने बहन की हत्या कर दी।चिलुआताल के प्रभारी निरीक्षक नीरज राय ने बताया कि चौकीदार की तहरीर पर धारा 302 व 201 आइपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।घटना के बाद युवतील की मां रह-रहकर बेहोश हो जाती है। इस चिंता में बुरा हाल है कि एक तरफ बेटी गई तो दूसरी तरफ बेटा उसकी हत्या में सजा भुगतेगा। उम्र भर अब पूरे परिवार का गम उन्हें सालता रहेगा।मां विलाप करती है और कहती है कि गांव का एक व्यक्ति उसकी बेटी की हत्या कराना चाहता था। उसे नहीं पता था कि उसका बेटा ही बेटी को मार डालेगा। बेटी की मौत से पिता भी टूट गए हैं। बताया कि इसी नवरात्र में वह उसे साढू के यहां से लेकर आए थे। पुलिस के मुताबिक मृतका अंजनी के शरीर पर तीन से अधिक घावों के निशान हैं। किशोरी अपनी मौसी के घर से नवरात्र में आई थी। उसके दोस्त ने उसे सिंदूर व मंगलसूत्र भेजा था। उसे वह पहन रही थी। घर वाले इसका विरोध कर रहे थे, फिर भी वह नहीं मानी।

गोरखपुर से अन्य समाचार व लेख

» थानों पर क्यों नहीं हो रहा समस्याओं का निस्तारण ?सीएम योगी

» सीएम योगी आदित्यनाथ के पास पहुंचा मतांतरण का मामला

» अपने क्षेत्र में रहें जनप्रतिनिधि- बैठकों में आने की जरूरत नहीं - सीएम योगी

» गोरखपुर मे थानेदार ने पैर न दबाने पर चौकीदार को कमरे में बंद करके पीटा, SSP ने शुरु कराई जांच

» गोरखपुर में प्रेमिका के घर के सामने प्रेमी को जिंदा जलाया