यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मसाला कारोबारी भाईयों के बिछौने से 6.31 करोड़ रुपये की नकदी मिली


🗒 बुधवार, अप्रैल 13 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मसाला कारोबारी भाईयों के बिछौने से 6.31 करोड़ रुपये की नकदी मिली

हमीरपुर, । छापे की जद में आए भरुआ सुमेरपुर कस्बे के सगे पान मसाला कारोबारी भाईयों के बिछौने से 6.31 करोड़ रुपये की नकदी मिली है। यहां सीजीएसटी आयुक्तालय कानपुर की केंद्रीय निवारक शाखा ने मंगलवार को छापेमारी की तो डबल बेडों के अंदर रखी यह रकम, कच्चा व तैयार माल, एक लैपटाप व दो मोबाइल फोन मिले, जिन्हें जब्त कर लिया गया। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। केंद्रीय वस्तु एवं सेवाकर (सीजीएसटी) आयुक्त सोमेश तिवारी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि अधिकारियों ने मंगलवार को सुमेरपुर कस्बा निवासी तंबाकू-सुपारी उत्पादक दो भाइयों जगत बाबू गुप्ता व प्रदीप गुप्ता के कारखानों और आवासों पर छापेमारी की थी। सुपारी का उत्पादन करने वाली जगत बाबू की फर्म ओजस इंटरप्राइजेज व सेंटेड तंबाकू का उत्पादन करने वाली प्रदीप गुप्ता की श्री इंटरप्राइजेज के साथ ही इनके रिश्तेदार रामावतार गुप्ता व महादेव गुप्ता के घरों पर भी जांच की गई। साथ ही कानपुर के बिरहाना रोड स्थित फर्म के कंसलटेंट कीर्ति शंकर उर्फ श्यामू शुक्ला के कार्यालय में दस्तावेज देखे गए। दोनों सगे भाइयों के आवासों में डबल बेड से अघोषित छह करोड़ 31 लाख 11 हजार 800 रुपये नकद जब्त किए गए।यह धनराशि बिना दस्तावेज माल बिक्री करके एकत्र की गई। कारखानों में अघोषित कच्चे माल के रूप में 15.2 क्विंटल सुपारी, छह बोरे तंबाकू व 95 किलो पैकिंग रोल के साथ तैयार माल में 13,700 पाउच सुपारी, 3800 पाउच तंबाकू मिली। कच्चे माल से 80 लाख रुपये कीमत का अघोषित माल तैयार किए जाने की बात पता चली। माल की खरीदारी कानपुर के नयागंज के व्यापारियों से करने की बात सामने आई। तैयार माल हमीरपुर व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में बेचा जाता था। उन्होंने बताया, पांच स्थानों पर छापेमारी की गई। मिले दस्तावेजों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।  पान मसाला कारोबारी भाइयों व उनसे जुड़े पांच स्थानों पर छापेमारी 18 घंटे चली। तीन बक्सों में नोट भरकर भारतीय स्टेट बैंक शाखा हमीरपुर के सिपुर्द किए गए। टीम ने नोट गिनने के लिए तीन मशीनें एसबीआइ और एक व्यापारी के यहां से ली थीं। टीम मंगलवार रात करीब 11:30 बजे कारोबारियों के यहां से निकल गई। उल्लेखनीय है कि मंगलवार सुबह छह बजे कानपुर से पांच गाडिय़ों में आई सीजीएसटी की टीम ने कस्बे की पुरानी गल्ला मंडी में गुटखा व्यवसायी जगत गुप्ता व उनके भाई प्रदीप गुप्ता के कारखाने, आवास के साथ कानपुर समेत पांच जगह छापेमारी की थी। टीम को बैंक पासबुक, बांड, शेयर प्रपत्र व प्रापर्टी के कागजात भी मिले। डिप्टी कमिश्नर बृजेंद्र कुमार मीणा ने बताया, तमाम खामियां मिली हैं। पान मसाला कारोबारी भाइयों के यहां मिली टैक्स चोरी को लेकर मुकदमा भी दर्ज हो सकता है। इसको लेकर आगे की जांच की जा रही है।