यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

रीवन-हमीरपुर सदर विधायक ने जन चौपाल लगाकर सुनी ग्रामीणों की समस्या


🗒 बुधवार, जुलाई 21 2021
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड
 रीवन-हमीरपुर सदर विधायक ने जन चौपाल लगाकर सुनी ग्रामीणों की समस्या
मौदहा- ग्राम रीवन में जन चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी गई साथ ही साथ सदर विधायक युवराज सिंह ने ग्रामीणों को कोरोना की तीसरी लहर के आने से बचने के उपाय बताएं कोई बिना मास्क के बाहर न जाए। ग्रामीण वासियों की समस्या सुनकर उसे तुरंत निस्तारित करने का आश्वासन दिया जन समस्याओं में जमीनी विवाद ,पेंशन योजना ,आवास योजना ,सम्मान निधि जैसी समस्याएं रही । समस्याओं को लेकर ग्राम प्रधान रीवन शिवकांती देवी ने अपनी अलग से चार मांगे रखी।
1- रीवन पर बने जूनियर हाई स्कूल को इंटरमीडिएट तक किया जाए, जिससे बच्चे शिक्षा ग्राम में रहकर ही प्राप्त कर सकें।
2-रीवन के प्रमुख रास्ते को बनाने की मांग की प्रमुख रास्ता सही ना होने पर वहां कीचड़ और गंदगी का अंबार लगा रहता है जिससे आम जनमानस को निकलने में समस्या होती है ।
३-रीवन में बनी गल्ला मंडी जो सपा सरकार में बुंदेलखंड पैकेज से बनाई गई थी जिस पर पानी की व्यवस्था ना होने पर किसानों को समस्या का सामना करना पड़ता है । 
4- बारात साला बनवाने की मांग की ।
 
इस दौरान भाजपा मौदहा ब्लाक प्रमुख लाला राम निषाद, मंडल अध्यक्ष अजय तिवारी, मंडल महामंत्री रवि राज कुशवाहा, ग्राम प्रधान रीवन मौजूद रहे ।
 पत्रकार -हेमंत उपाध्याय 

हमीरपुर से अन्य समाचार व लेख

» करहिया-दो महीने पूर्व बनी पुलिया हुई धराशाही

» अज्ञात लुटेरो ने प्राईवेट बैंक के मालिक के साथ हजारो की नगदी सहित मोबाइल फोन व जरुरी कागजात लूट कर हुए फरार

» समाजवादी लोहिया वाहिनी की कार्यकारिणु गठित

» महिला ने दबंग पर लगाया छप्पर तोड़ने के साथ ही युवती के साथ मारपीट का आरोप

» ट्रैवल्स एजेंसियों पर कसा जा रहा है शिकंजा

 

नवीन समाचार व लेख

» करहिया-दो महीने पूर्व बनी पुलिया हुई धराशाही

» अज्ञात लुटेरो ने प्राईवेट बैंक के मालिक के साथ हजारो की नगदी सहित मोबाइल फोन व जरुरी कागजात लूट कर हुए फरार

» मेरठ में कार सवार महिला पर फायरिग

» शामली में भाजपा के कैराना ब्लाक प्रमुख पर हमला

» मतांतरण मामले में निरुद्ध मुल्जिम सात दिन के लिए एटीएस के हवाले