आहत युवक ने सुसाइड नोट लिख मौत को लगाया गले

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आहत युवक ने सुसाइड नोट लिख मौत को लगाया गले


🗒 शनिवार, सितंबर 25 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
आहत युवक ने सुसाइड नोट लिख मौत को लगाया गले

हमीरपुर, । जनपद में शनिवार को एक ऐसी घटना सामने आई कि जिसने भी सुना उसके रोंगटे खड़े हो गए। मामला जिले की राठ कोतवाली के बिगवां गांव का है। जहां पर एक युवक  के साथ लोगों ने संवेदनहीनता की हदें पार करते हुए युवक को बेरहमी से मारा-पीटा। इतना ही नहीं आरोपितों ने बर्बरता के बाद उक्त युवक से रुपयों की मांग भी की। इस पूरी घटना से युवक इस कदर आहत हुआ कि उसने शनिवार को ही पेड़ पर बेल्ट के सहारे फांसी फंदा बनाया और फिर इसके बाद मौत को गले लगा लिया। हालांकि जब पुलिस मामले की जांच-पड़ताल करने घटनास्थल पर पहुंची तो उसे वहां से एक सुसाइड नोट भी मिला। पुलिस ने बताया कि स्वजन की तहरीर के मुताबिक उन्हाेंने रिपोर्ट दर्ज कर ली है।बिगवां गांव निवासी महीपत पाल के दो पुत्र शिव सिंह और रविंद्र हैं। रविंद्र ने बताया कि उसका 22 वर्षीय भाई करन यादव के यहां काम करता था, जो कि तीन दिन से घर नहीं लौटा था। उसके मालिक सहित चार लोगों ने चोरी का आरोप लगाते हुए शिव को बेरहमी से पीट दिया और रुपयों की मांग की। इससे आहत होकर शनिवार की सुबह गांव के चकरोड किनारे लगे जामुन के पेड़ पर बेल्ट से उसने फांसी लगा ली। युवक ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। राहगीरों ने जब युवक को पेड़ पर लटका देखा तो पुलिस को सूचना दी। पुलिस को छानबीन के दौरान युवक की जेब से सुसाइड नोट बरामद हुआ। सुसाइड नोट में मृतक युवक ने राजवीर यादव, करन यादव, संजय बनिया समेत चार लोगों के नाम जिन्होंने उसके ऊपर चोरी का आरोप लगाया था। जबकि उसने कोई चोरी नहीं की। शिव ने खुदकुशी से पूर्व सुसाइड नोट में यह भी लिखा कि आरोपित उसे पकड़ कर एक जगह ले गए। जहां पर राड व पाइप से जमकर पीटा। दो लाख रुपये की मांग की।कोतवाल राजेशचंद्र त्रिपाठी ने बताया कि तहरीर के आधार पर मामला दर्ज किया गया है। सुसाइड नोट के आधार पर घटना की छानबीन की जा रही है।