यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

हरदोई मे दारोगा जी सोते रहे, बेटा ग‍िड़ग‍िड़ाता रहा और दबंंगों ने पीट-पीटकर प‍िता को मार डाला


🗒 सोमवार, अगस्त 12 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

हरपालपुर कस्बे में मकान पर कब्जेदारी को लेकर दुकानदार की पीटपीट कर हत्या के मामले में पुलिस की लापरवाही ही नहीं मिलीभगत के और साक्ष्य सामने आए हैं। मृतक के पुत्र का कहना है कि जब उसके घर पर हमला किया गया तो पहले वह अपनी मां के साथ थाने गया, तो उसे भगा दिया गया। हमलावरों ने जब उसके पिता को पीटना शुरू किया तो वह फिर भागकर थाने गया, लेकिन वहां उसे साहब सो रहे हैं, की बात कहकर फिर लौटा दिया गया। पुलिस आई नहीं और हमलावरों ने उसके पिता की पीट पीटकर हत्या कर दी। मां का भी पैर तोड़ डाला। शनिवार की रात एसपी ने खुद जिला अस्पताल पहुंचकर मृतक की पत्नी और पुत्र से पूरी जानकारी ली।हरपालपुर कस्बे में विकास मिश्र के मकान पर गुरुवार की सुबह ईशेपुर निवासी ईसेपुर निवासी सतेंद्र आदि ने लूटपाट कर उसकी हत्या कर दी थी। सनसनीखेज हत्याकांड में शुरू से ही पुलिस की मिलीभगत सामने आई। थाने से 500 मीटर की दूरी पर इतनी बड़ी घटना हो गई और पुलिस पहुंची तक नहीं।रविवार को मृतक के पुत्र अंकित ने पुलिस अधिकारियों और विधायक को बताया कि सुबह छह बजे वह थाने गया तो उसे भगा दिया गया था। उसके बाद फिर थाने गया। थाना प्रभारी कमरे में सो रहे थे। चौकीदार सिपाहियों के पास लेकर गया तो उन लोगों ने उसे ही बंद कर देने की धमकी दी। फिर वह जब तक आया, उसके पिता की हत्या कर दी गई थी। पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी जिला अस्पताल पहुंचे तो मृतक की पत्नी घटना की चश्मदीद सुधा ने उन्हें पूरी जानकारी दी।अब इससे ज्यादा पुलिस की मिलीभगत के साक्ष्य क्या हो सकते हैं। मृतक विकास के साले रतीराम ने बताया कि जब उसके बहनोई को वह लोग पीट रहे थे, तो थानाध्यक्ष के मोबाइल पर फोन किया गया। उन्होंने खुद को आउट आफ स्टेशन बताया। जबकि उससे पहले लोग उनसे मिलकर आए थे और फिर जब हत्या हो गई तो वह खुद भी आ गए। रतीराम का कहना है कि इसकी मोबाइल रिकार्डिंग तक मौजूद है।हत्याकांड के वादी मृतक के साले रतीराम ने थानाध्यक्ष हरपालपुर, एसओ राकेश ङ्क्षसह, संजय ङ्क्षसह और दो अन्य सिपाहियों पर धमकाने और जेल भेजने की धमकी देने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि शनिवार को जब सीओ जांच करने चले आए। तो वह लोग उसके घर पर गए और उन्हें धमकाया। कहा कि ज्यादा नेतागिरी करोगे तो निपट जाएंगे। उन्होंने ज्यादा साक्ष्य देने पर फर्जी मामले में जेल भेजने तक की धमकी दी।   

हरदोई मे दारोगा जी सोते रहे, बेटा ग‍िड़ग‍िड़ाता रहा और दबंंगों ने पीट-पीटकर प‍िता को मार डाला

हरदोई से अन्य समाचार व लेख

» हरदोई शहर में डीएम द्वारा निलंब‍ित करनेे के आदेश को एसपी ने क‍िया रद

» सावन के सुहाने मौसम में विश्वजाल पर वर्षा ऋतु की कविताओं का हिमांशु त्रिपाठी (प्रियम) द्वारा लिखित नया संग्रह

» जिला अस्पताल के बाहर बनेगी पार्किंग,कूड़े के ढेर से मिलेगी आजादी

» भारतीय जनता पार्टी सदस्यता अभियान की समीक्षा बैठक सम्पन्न

» सवर्ण चेतना सभा की टीम ने हरपालपुर के पीड़ित परिवार से की मुलाकात

 

नवीन समाचार व लेख

» DGP का आया फरमान, 58 साल की उम्र होने पर नहीं बन सकेंगे थानाें के इंचार्ज

» UP राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने दी बकरीद की बधाई, शिया-सुन्नी ने एक साथ पढ़ी नमाज

» हरदोई शहर में डीएम द्वारा निलंब‍ित करनेे के आदेश को एसपी ने क‍िया रद

» हरदोई मे दारोगा जी सोते रहे, बेटा ग‍िड़ग‍िड़ाता रहा और दबंंगों ने पीट-पीटकर प‍िता को मार डाला

» अलीगढ एएमयू में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों ने राज्यपाल के दावतनामा को ठुकराया