हरदोई में मां-बाप ने ही की थी बेटी की हत्‍या

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

हरदोई में मां-बाप ने ही की थी बेटी की हत्‍या


🗒 बुधवार, जुलाई 07 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
हरदोई में मां-बाप ने ही की थी बेटी की हत्‍या

हरदोई,। शाहाबाद कोतवाली क्षेत्र में मायके आई नवविवाहिता की हत्या उसके माता-पिता ने ही की थी। बेटी का गांव के ही युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था। वह लोग विरोध करते थे, जिस पर प्रेमी ने जान दे दी थी। उन्हें डर था कि कहीं बेटी पुलिस को यह बात न बता दे। उसी पर दोनों ने योजना बनाकर चार जुलाई की सुबह हत्या कर दी। एसपी अजय कुमार ने बुधवार को पूरे मामले की जानकारी दी। दौलतियापुर मायके आई नीरज कुमारी की चार जुलाई को हत्या कर दी गई थी। उसका शव गन्ने के खेत में मिला था।मृतका के पिता ने अज्ञात के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई थी, पुलिस जांच में जुटी तो मामला और ही कुछ निकला। एसपी अजय कुमार ने बताया कि नीरज कुमारी का पड़ोस में रहने वाले अजय कुमार से प्रेम-प्रसंग चल रहा था। इस कारण उसके पिता रामरतन और मां रामदेवी ने 15 जून को उसकी शाहजहांपुर में शादी कर दी। 17 जून को नीरज मायके आई और तभी से गांव में थी। अजय और नीरज के बीच फोन पर बात हुआ करती थी और अजय लगातार नीरज पर शादी का दबाव बना रहा था। नीरज के शादी से मना करने पर 30 जून को अजय ने फांसी लगाकर जान दे दी थी। पुलिस उस मामले की जांच कर रही थी, जिसकी पूछताछ के लिए तीन जुलाई नीरज और उसके मां-बाप को कोतवाली बुलाया, लेकिन वह लोग नहीं आए और अगले ही दिन नीरज की हत्या हो गई। नीरज के मां-बाप से कोतवाली में पूछताछ की, जिसमें दोनों ने बताया कि प्रेम-प्रसंग की बात खुलने के डर से बेटी की दुपट्टे से गला दबाकर हत्या कर दी और और दुपट्टा खेत में छुपा दिया। पुलिस ने दोनों की निशान देही पर दुपट्टा बरामद कर लिया।माता पिता ने नीरज की हत्या पूरी योजना बनाकर की। पिता पहले ही खेत की तरफ चला गया। नीरज जब घर से शौच के लिए निकली तो मां भी पीछे पीछे चली गई और फिर दोनों उसे खेत में मिली। पुलिस का कहना है कि नीरज कुछ समझ ही नहीं पाई थी और दोनों ने उसे खेत में ले जाकर मार डाला।