यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कोरोना वायरस इलाज में कोताही पर दर्ज होगी FIR, 12 फरवरी के बाद विदेश से आए लोगों की होगी जांच


🗒 शुक्रवार, मार्च 13 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रशासन ने आपदा प्रबंधन एक्शन प्लान तैयार किया है। जिले में आउटब्रेक रिस्पांस टीम बना दी गई है, जो चौबीस घंटे निगरानी करेगी। शहर के प्रत्येक बड़े अस्पतालों में जांच की सुविधा होगी। इलाज में सहयोग न करने वाले और जनसामान्य में संक्रमण फैलाने वालों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई जाएगी। प्राइवेट अस्पतालों में भी इलाज और जांच की व्यवस्था होगी।राजधानी में मरीज के सामने आने के बाद से ही प्रशासन कोरोना से बचाव को लेकर सक्रिय हो गया है। शुक्रवार को जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने मुख्य विकास अधिकारी मनीष बंसल और तमाम अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में कोरोना से बचाव को लेकर तमाम विभागों की जिम्मेदारी तय की गई।लगातार बढ़ रहे संदिग्ध मरीजों की संख्या को देखते हुए डीएम ने निर्देश दिए हैं कि जिले के समस्त अस्पतालों व सीएचसी और पीएचसी में थर्मल स्कैनर व इंफ्रारेड थेरमोमीटर की तत्काल व्यवस्था कराई जाएगी। इसके साथ ही यह भी तय किया गया है कि संक्रमित व्यक्ति अगर इलाज से भागेगा या फिर जो इलाज में बाधा डालेगा, उसके खिलाफ एफआइआर होगी।

कोरोना वायरस इलाज में कोताही पर दर्ज होगी FIR, 12 फरवरी के बाद विदेश से आए लोगों की होगी जांच

बैठक में लिए गए अन्य अहम फैसले

  • रैपिड रिस्पांस टीमों का गठन। इसमें प्रशासन, पुलिस, नगर निगम व चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अफसर। मुख्य विकास अधिकारी नोडल अफसर। टीमें स्वयं जाकर लोगों की जांच करेंगी
  • शहर को आठ जोनों में बांटा गया। प्रत्येक जोन की अलग टीम गठित होगी। ग्रामीण क्षेत्र के लिए अलग से टीमें बनेंगी
  • हर जोन में एक लिंक अस्पताल होगा तथा बड़े प्राइवेट अस्पतालों के लिए एक रैपिड रिस्पांस टीम अलग से बनेगी
  • वायरस से प्रभावित सात देशों (चीन, इटली, ईरान, साउथ कोरिया, फ्रांस, स्पेन, जर्मनी) से आने वाले शत प्रतिशत भारतीय व विदेशी नागरिकों, जिन्होंने विगत 12 फरवरी से इन देशों की यात्रा की है या वहां होते हुए आए है उनको मॉनीटर व ट्रैक करने की व्यवस्था है
  • प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र औरंगाबाद व कैंसर हॉस्पिटल को ट्रैकिंग सेंटर बनाया गया है। यहां बेड, पीने का पानी व खाने की व्यवस्था की गई है
  • डीएम की अध्यक्षता में जिला स्तरीय आउटब्रेक रिस्पांस समिति गठित की गई है। इसमें चिकित्सा-स्वास्थ्य विभाग, चिकित्सा शिक्षा, नगर निगम, पंचायतराज, पर्यटन, मनोरंजन, रेलवे, परिवहन, विमानपत्तन, शिक्षा, सूचना एवं पुलिस विभाग के अधिकारी हैं
  • चिकित्सालयों में ओपीडी में लाइन नहीं लगेगी। डिस्प्ले बोर्ड के माध्यम से मेडिकल स्टाफ मरीजों को बुलाएगा
  • शॉपिंग मॉल, व्यापारिक व भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर पर्सनल हाईजीन के लिए सेनिटाइजर की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाएगी। 

स्वास्थ सुझाव से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ में बंद रहेंगे बाजार, कोरोना वायरस को रोकने के लिए व्यापारियों का समर्थन

» यूपी में दो और पॉजिटिव केस, मुरादाबाद-नोएडा में मिले संक्रमित, संख्या पहुंची 25

» लखनऊ से तसल्ली देने वाली खबर कोरोना पीड़ि‍त महिला डॉक्टर की हालत में सुधार, केजीएमयू में भर्ती पति व बच्चे हुए डिस्चार्ज

» UP के महोबा में 8 बच्चे खसरा टीका लगते ही बीमार, कानपुर में रुबेला टीके से 70 की हालत बिगड़ी

» टीबी का दो साल पहले ही पता लगा लेगी नई जांच

 

नवीन समाचार व लेख

» केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में लगाई गई थी आग, अज्ञात पर दर्ज हुई एफआइआर

» भाजपा सांसद सुब्रत पाठक पर गर्म हुई सियासत, अखिलेश, मायावती और अजय कुमार ने निंदा की

» प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी में भाजपा के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से फोन से बातचीत की

» यूपी सरकार के मंत्री हालात पर चिंतित निशाने पर तब्लीगी जमात

» बांदा -समाजसेबी पीसी पटेल रोजाना गरीबों को बांट रहे हैं सब्जी