यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जालोन मे दत्तक पुत्र ने वृद्ध पिता को दी दर्दनाक मौत


🗒 बुधवार, अक्टूबर 02 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
जालोन मे दत्तक पुत्र ने वृद्ध पिता को दी दर्दनाक मौत

कोंच कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में पत्नी व बच्चों को कमरे में बंद करने के बाद एक दत्तक पुत्र ने वृद्ध पिता को दर्दनाक मौत दे दी। बाहर का मंजर देखकर कमरे में बंद पत्नी व बच्चे चीखते रहे लेकिन बाहर वह पिता के साथ बेरहमी करता रहा। बुधवार की सुबह घटना की जानकारी होते ही पूरे गांव में सनसनी फैल गई और पुलिस ने ग्रामीणों से पूछताछ के साथ पड़ताल शुरू की है। साथ ही खुद को कमरे में बंद करने वाले आरोपित को दरवाजा तोड़कर पुलिस ने गिरफ्त में लिया।कोंच कोतवाली क्षेत्र के चमरसेना गांव में रहने वाले 87 वर्षीय नवीबक्श की पत्नी की मौत हो चुकी है। उन्होंने करीब 26 साल पहले जालौन के लौना छानी निवासी साले के बेटे सफी मोहम्मद को गोद लिया था। बुढ़ापे की लाठी समझ उसे लाड़पाल से पाला और उसकी शादी भी की। गांव में बने मकान में नवीबक्श के साथ सफी मोहम्मद, उसकी पत्नी अख्तरी व चार बच्चे रह रहे थे। अख्तरी व उसके बच्चों से नवीबक्श बेहद प्रेम करता था। अख्तरी भी अपने ससुर की इज्जत करने के साथ उनका पूरा ख्याल रखती थी। पौत्र व तीन पौत्रियां भी अपने बाबा का लाड़-प्यार पाते थे।सफी मोहम्मद की संगत खराब होने और फिजूलखर्ची के कारण नवीबक्श उसे समझाते थे लेकिन वो विवाद करता था। उसकी आदतों में सुधार न देखकर नवीबक्श ने 14 बीघा खेत, घर व अन्य संपत्ति 10 वर्षीय पौत्र आरिफ के नाम लिख दी थी। इसपर सफी आए दिन जमीन अपने नाम करने का दबाव बनाता था। पड़ोसियों के मुताबिक इस बात को लेकर सफी आए दिन नवीबक्श से मारपीट भी करने लगा था।मंगलवार की रात भी सफी का पिता से झगड़ा हुआ था। रात करीब दो बजे सफी ने पत्नी अख्तरी, बेटे व तीन बेटियों को कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद सफी बाहर के कमरे में सो रहे नवीबक्श के पास गया और दरवाजा अंदर से कुंडी बंद कर ली। पुलिस के मुताबिक उसने तहमद से नवीबक्श का गला घोंट दिया और फिर पत्थर से सिर पर ताबड़तोड़ वार करता रहा। बाबा की मदद की पुकार सुनकर कमरे में बंद पत्नी व बच्चे चीखते चिल्लाते रहे लेकिन सिर पर खून सवार सफी ने पिता को मौत के घाट उतार दिया। शोर सुनकर पड़ोसी पहुंचे तो कमरे का दरवाजा बंद मिला, जिसपर पुलिस को सूचना दी।लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा खटखटाया तो अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो अंदर एक कोने में सफी बैठा था और नवीबक्श का रक्तरंजित शव पड़ा था। पुलिस ने सफी को गिरफ्तार कर लिया लेकिन उसके चेहरे पर कोई खौफ या अफसोस नहीं था। फॉरेंसिक टीम ने साक्ष्य एकत्रित किए और मौके से पत्थर व कपड़ा बरामद किया। पुलिस ने अख्तरी व बच्चों से भी पूछताछ की। एएसपी डा. अवधेश कुमार सिंह ने बताया कि प्राथमिक जांच में संपत्ति के लिए दत्तक पुत्र द्वारा बुजर्ग की हत्या करने की बात सामने आई है। हत्यारोपी युवक सिरफिरा किस्म का है और उसकी संगत भी ठीक नहीं थी।