यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

दो दिन पहले मर चुके युवक पर ही दर्ज किया मुकदमा


🗒 सोमवार, सितंबर 06 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
दो दिन पहले मर चुके युवक पर ही दर्ज किया मुकदमा

उरई, । दो दिन पहले खुदकुशी कर चुके युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की चूक शहर कोतवाल पर भारी पड़ गई। एसपी ने कोतवाल विनोद कुमार पांडेय के साथ मुख्य आरक्षी रमेश यादव को लाइन हाजिर कर दिया है। अन्य पुलिस कर्मियों की भूमिका की भी जांच की जाएगी। अपर पुलिस अधीक्षक राकेश सिंह, 10 दिन के भीतर जांच पूरी कर रिपोर्ट सौंपेंगे।मोहल्ला राजेंद्र नगर में शुक्रवार को 22 वर्षीय युवक सागर गुप्ता ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। सागर गुप्ता ने छह माह पहले पूजा सोनी नाम की युवती से प्रेम विवाह किया था, परंतु विवाह के कुछ दिन बाद ही दोनों के रिश्तों में दरार आ गई। मामला पुलिस तक पहुंचा। अंत में परेशान सागर गुप्ता ने खुदकुशी कर ली। पुलिस ने उसके शव का पंचनामा भरा, लेकिन एक बड़ी चूक कोतवाली पुलिस से हो गई। शनिवार को उरई कोतवाली में मृतक सागर गुप्ता के खिलाफ ही उसकी पत्नी पूजा सोनी की तहरीर पर धोखाधड़ी तथा मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया।दो दिन पहले ही जो युवक मृत हो चुका है उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने से साबित हो गया कि पुलिस ने तहरीर की जांच ही नहीं की। मामला खुलने के बाद पुलिस महकमे में खलबली मच गई। पुलिस अधीक्षक रवि कुमार रविवार देर रात करीब 11 बजे उरई कोतवाली पहुंचे। मृत युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने को लेकर उन्होंने कोतवाल से जबाव तलब किया। कोतवाल के पास इसका कोई सटीक उत्तर ही नहीं था। इसके बाद एसपी ने कोतवाल विनोद कुमार पांडेय को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया। इसके अलावा विभागीय जांच का आदेश भी दिया है। अपर पुलिस अधीक्षक राकेश सिंहको जांच सौंपी गई है। फिलहाल कोतवाली में किसी प्रभारी निरीक्षक की अभी तैनाती नहीं हुई है। इस प्रकरण से पुलिस की चौतरफा किरकिरी हो रही है। एसपी रवि कुमार ने कहा कि गलत मुकदमा दर्ज करने में जितने लोग दोषी पाए जाएंगे, उन सभी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।एसपी ने बताया कि युवती पूजा सोनी ने सागर गुप्ता के विरुद्ध जबरदस्ती शादी, जान से मारने की धमकी देने एवं दो लाख रुपये की मांग करने का आरोप लगाते हुए प्रार्थना पत्र दिया था। महिला संबंधी अपराध होने के कारण कोतवाली उरई पुलिस की टीम द्वारा तत्काल प्रकरण को संज्ञान में लेकर चार सितंबर को मुकदमा दर्ज कर लिया, लेकिन प्रतिवादी सागर गुप्ता ने खुदकुशी कर ली है। लिहाजा मुकदमे को खत्म करा दिया गया है।