यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जिला झांसी में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा-पुलवामा में CRPF के जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा


🗒 शुक्रवार, फरवरी 15 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

पुलवामा में वीर सैनिकों की शहादत से गम और गुस्से से भरी भीड़ पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगा रही थी और इन नारों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के स्वाभिमान, सम्मान और सेना के बलिदान को मान देते हुए यह साफ संकेत दे दिया कि आतंकवादियों के हमले का जवाब भारतीय सेना सर्जिकल स्ट्राइक अंदाज में ही देगी। मोदी ने दो टूक कहा 'सरकार ने सुरक्षाबलों को आगे की कार्रवाई तय करने के लिए समय क्या हो, स्थान क्या हो और स्वरूप क्या हो, सभी फैसले लेने की इजाजत दे दी है।

जिला झांसी में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा-पुलवामा में CRPF के जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा

पुलवामा में आतंकियों और उनके आकाओं ने जो हैवानियत दिखाई है, उसका पूरा हिसाब लिया जाएगा।' शुक्रवार को मोदी झांसी के भोजला कृषि मंडी के मैदान में डिफेंस कॉरीडोर और पाइप पेयजल समेत 20 हजार करोड़ रुपये से अधिक की योजनाओं के शिलान्यास और लोकार्पण के बाद रैली को संबोधित कर रहे थे। स्वत: स्फूर्त आई यह भीड़ पुलवामा पर मोदी को सुनने आई थी। हर तरफ पाकिस्तान विरोधी नारे गूंज रहे थे और मोदी ने जनता की भावनाओं को और गति दी। पाकिस्तान और आतंकियों को कड़ा संदेश देते हुए मोदी ने बिना नाम लिये कहा 'पड़ोसी देश (पाकिस्तान) इस समय बुरे दौर से गुजर रहा है।बड़े-बड़े देश उससे दूरी बना रहे हैं। वह कटोरा लेकर घूम रहा है, लेकिन दुनिया से मदद भी नहीं मिल रही है। अपनी बदहाली के दौर में वह भारत पर हमले कर, पुलवामा जैसी तबाही मचाकर सोचता है कि भारत कमजोर हो जाएगा लेकिन, जिस रास्ते पर वह है, वहां बर्बादी ही मिल रही है। हमने जो रास्ता अपनाया है, उसमें दिन-दूना रात चौगुनी तरक्की हो रही है। विश्व के कई देश भारत के साथ खड़े हैं और भारत की भावनाओं का समर्थन कर रहे हैं। मेरे पास जो संदेश आ रहे हैं उससे पता चल रहा है कि वे भी कितने दुखी हैं।'आजादी की लड़ाई की अलख झांसी से जगी थी और आतंकवाद के खिलाफ मुंहतोड़ जवाब देने की मोदी की मंशा को इस धरती ने भरपूर समर्थन दिया। भीड़ का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि भोजला कृषि मंडी से वापसी में बाइपास तक की दो किलोमीटर की दूरी तय करने में लोगों को सवा दो घंटे से ज्यादा समय लगा। यह भीड़ मोदी के हर वाक्य पर नारे लगा रही थी। पाकिस्तान पर जब वह आक्रामक थे तो यह कहना नहीं भूले कि उसे पता नहीं कि भारत नई नीति और नई रणनीति वाला भारत है।

मोदी ने कहा कि मणिकर्णिका (रानी लक्ष्मीबाई) की जन्मभूमि काशी है और मेरी कर्मभूमि काशी है। झांसी मणिकर्णिका की शौर्य भूमि है। मुझे गर्व है कि मणिकर्णिका की जन्मभूमि के लोगों ने मुझे सांसद बनाया है। यही रिश्ता मुझे बुंदेलखंड से जोड़ता है। उन्होंने याद दिलाया कि पिछली सभाओं में मैनें आपसे वायदा किया था कि आप जो स्नेह दे रहे हैं, उसे ब्याज समेत लौटाउंगा। भीड़ की तरफ से जवाब मिला तो मोदी और उत्साहित हुए। उन्होंने कहा कि 20 हजार करोड़ की योजना से यहां सुरक्षा, रोजगार, रेल, बिजली और पानी की समस्या दूर होगी।मोदी की सभा में बुंदेलखंड की झांसी, हमीरपुर, जालौन और बांदा लोकसभा क्षेत्रों के सात जिलों की जनता उमड़ी थी। मोदी ने इस गढ़ को लक्ष्य करते हुए उम्मीद जगाई। कहा कि अब बुंदेलखंड को देश की सुरक्षा और विकास का कॉरीडोर बनाने का अभियान शुरू किया है। यहां अब निवेश और रोजगार के नये अवसर उपलब्ध होंगे। मोदी ने गुजरात के कच्छ जिले का उदाहरण दिया। कहा, पहले वहां रेगिस्तान था लेकिन, आज कच्छ देश के विकसित जिलों में अग्रणी है। भरोसा दिया कि बुंदेलखंड भी कच्छ की तरह की प्रगति करेगा।संभावित चुनाव को लक्ष्य करते हुए मोदी ने करीब नौ हजार करोड़ की पाइप पेयजल योजना का उल्लेख करते हुए बुंदेलखंड में भाजपा को जमीन दी। पानी यहां का सबसे बड़ा मुद्दा रहा है और मोदी ने इस समस्या के समाधान की पहल कर एक बड़ी भूमिका बनाई। उन्होंने किसानों से भी सीधा संवाद किया। मोदी ने हाल में लागू की गई प्रधानमंत्री कृषि सम्मान निधि योजना का जिक्र करते हुए कहा कि इससे उप्र के दो करोड़ 14 लाख किसानों को लाभ मिलेगा और हर वर्ष उनके खाते में छह हजार रुपये मिलेंगे। भीड़ में बहुतायत किसान थे। मोदी का संदेश किसानों के दिलों तक गया और तालियों की गूंज में उनकी भावनाओं को उड़ान मिल गई।मोदी ने बैंक खाता खोलने की वजह गिनाई और कहा कि अब किसानों के खाते में सीधे धन जाएंगे तो इससे देश में एक लाख करोड़ रुपये की बचत होगी। क्योंकि यह धन बिचौलिए और दलाल खाते थे। मोदी ने अपनी सरकार की योजनाएं गिनाई और किसानों, युवाओं और बेरोजगारों सभी वर्ग के दिल को छूने की पहल की। इस मौके पर राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पांडेय, मंत्री महेंद्र सिंह, एमएलसी अशोक कटारिया समेत कई प्रमुख लोग मौजूद थे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि हर नागरिक को तय करना होगा कि आतंकवाद के खिलाफ मोदी के नेतृत्व की लड़ाई देश की लड़ाई बने। हम मोदी के नेतृत्व में आतंकवाद खत्म करेंगे। योगी ने कहा, परोक्ष या प्रत्यक्ष जो लोग आतंकवाद का समर्थन कर रहे हैं, उन्हें बेनकाब किया जाना चाहिए। आतंकवाद को नेस्तनाबूद करने के लिए जिस दिन हर भारतवासी खड़ा होगा, पूरी दुनिया से यह समाप्त हो जाएगा। योगी ने विकास की सभी योजनाएं सिलसिलेवार गिनाई। बुंदेलखंड के विकास के लिए मोदी को श्रेय दिया और आभार जताया। योगी ने बुंदेलखंड में रोजगार और विकास के लिए सरकार की योजनाओं पर भी फोकस किया।केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बुंदेलखंड के विकास के लिए योगी का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा कि झांसी की रानी विश्वासघात के चलते मारी गई। जो देश अर्जुन की भूमिका में है, उसे गीता के उपदेश सुनाइए लेकिन, जो शिशुपाल की तरह चले, उस पर सुदर्शन चक्र चलाइए।इस योजना पर 454 करोड़ रुपए खर्च होंगे। यह कारखाना रेलवे परिसर में 135 एकड़ जमीन पर स्थापित होगा। परियोजना झांसी और आसपास के लोगों को रोजगार का बड़ा माध्यम बनेगी, क्योंकि रेल डिब्बों के स्क्रैप से कई लोगों को रोजगार मिलेगा।इस योजना पर 4329.54 करोड़ रुपए खर्च होंगे। परियोजना के अंतर्गत 42 बड़े पुल और 456 छोटे पुल शामिल हैं। दोहरी रेल लाइन बन जाने से झांसी-खजुराहो के बीच महोबा और झांसी-कानपुर के बीच खैरार पर इंजन रिर्वस नहीं करना पड़ेगा।

इस योजना पर 600.43 करोड़ रुपए खर्च होंगे। अमृत योजना के अंतर्गत 60 वार्डों की पेयजल व्यवस्था को 29 जोन में विभिक्त किया गया है। माताटीला बांध से कच्चे पानी को बबीना में शुद्ध कर करीब छह लाख की आबादी को शुद्ध पेयजल मिलेगा।इस योजना पर 9021.89 करोड़ रुपए खर्च होंगे। योजना के अंतर्गत यमुना, बेतवा, केन, मंदाकिनी, जामनी और धसान नदी के पानी को गांवों में पाइप लाइन के माध्यम से पहुंचाया जाएगा। इससे बुंदेलखंड के सातों जिलों के 2429 गांवों के 44 लाख आबादी को फायदा मिलेगा। इस योजना कीअनुमानित लागत अभी तय नहीं है। 3025.348 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा। दस गांवों की जमीन अधिग्रहण करने के लिए 430.31 करोड़ रुपए स्वीकृत हो गए हैं। इसमें झांसी जिला के लिए 328 करोड़ रुपए शामिल हैं।सूखे बुंदेलखंड के लिए पेयजल योजना की अहमियत का अंदाजा स्वत: लगाया जा सकता है। बुंदेलखंड की वीर भूमि झांसी भाजपा के लिए 2014 और 2017 में अनुकूल रही। पिछले लोकसभा चुनाव में मोदी ने झांसी में उमा भारती की सभा में विकास के सपने दिखाए थे। उनकी अपील कारगर हुई और बुंदेलखंड की झांसी, हमीरपुर, जालौन और बांदा चारों लोकसभा सीटें भाजपा की झोली में आईं। बतौर पीएम बुंदेलखंड के महोबा समेत कई हिस्सों में मोदी आए और यहां की उम्मीदों को हवा दी। भरोसा कायम हुआ और बुंदेलखंड ने विधानसभा चुनाव में भी भाजपा की झोली भरने में कंजूसी नहीं की।

झांसी से अन्य समाचार व लेख

» जिला झांसी में जहरीली शराब के सेवन से एक की मौत, जिला प्रशासन में खलबली

» मायावती को झटका, झांसी में BSP की कद्दावर नेता ने PM मोदी को जमकर सराहा

» नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी को हार्ट अटैक, झांसी से दिल्ली भेजा गया

» झांसी कोतवाली में तैनात बच्ची के साथ महिला सिपाही की तस्वीर वायरल, खुश होकर डीजीपी ने किया ट्रांसफर

» पटाखा फैक्ट्रि में विस्फोट

 

नवीन समाचार व लेख

» फतेहपुर मे सोमवती अमावस्या पर गंगा में नहा रहे चाचा-भतीजे और एक बच्चे की डूबकर मौत

» जिला अलीगढ़ में बच्ची की हत्या के मामले में टप्पल थाने के इंस्पेक्टर लाइन हाजिर, संजय ने संभाला चार्ज

» यमुना एक्सप्रेस वे पर भीषण हादसा, बस पलटने से चार यात्रियों की मौत

» प्रयागराज के घूरपुर में युवक की हत्या, नाले में फेंका शव

» अतीक अहमद को कड़ी सुरक्षा में लाया गया एयरपोर्ट, भेजा गया अहमदाबाद