यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

एंटी करप्शन टीम ने लेखपाल को रिश्वत लेते पकड़ा


🗒 बुधवार, जून 15 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
एंटी करप्शन टीम ने लेखपाल को रिश्वत लेते पकड़ा

कन्नौज, । कन्नौज के छिबरामऊ में एक लेखपाल को एंटी करप्शन टीम ने 10 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा है। लेखपाल  ने जमीन की नाप के लिए पीड़ित से रुपये मांगे थे। जिसकी शिकायत पर टीम ने कार्रवाई की है।कोतवाली छिबरामऊ चौकी सिकंदरपुर के सलेमपुर निवासी वीरेश कुमार का जमीन का मामला था। इसकी नाप कराने के लिए वह कई बार अधिकारियों से फरियाद कर चुके थे। थाना परिसर में आयोजित समाधान दिवस में भी शिकायत की थी। लेखपाल को अधिकारियों ने नाप के आदेश दिए थे। इसके बाद भी रुपयों की मांग की जा रही थी। ऐसे में पीड़ित वीरेश कुमार ने रिश्वत मांगने की शिकायत एंटी करप्शन विभाग से की। टीम ने वीरेश कुमार से संपर्क किया। इसके बाद बुधवार को लखनऊ से एंटी करप्शन टीम छिबरामऊ पहुंची। वहां वीरेश कुमार व उनकी पत्नी अनीता से मिली। दो-दो हजार के पास नोट नंबर नोट करके दिए गए। 10 हजार रुपये रिश्वत देने के लिए लेखपाल से बात की गई। गांव शाहजहांपुर में कोतवाली गुरसहायगंज के गांव विशंभरपुर निवासी लेखपाल रोहित सिंह तैनात है। लेखपाल कोतवाली से करीब 100 मीटर दूर ताजपुर रोड पर बकरी मंडी में रिश्वत लेने पहुंचे। जैसे ही उन्हें रुपये दिए गए, वहां पहले से कुर्ता पजामा व पेंट शर्ट में सिर पर अंगौछा बांधे घूम रहे एंटी करप्शन टीम के सदस्यों ने रंगे हाथों पकड़ लिया। तत्काल उनके हाथ से नोट लिए गए। उनके नंबर मिलाए गए। इसके बाद लेखपाल को कोतवाली लाया गया। वहां इस्पेक्टर अरविंद सिंह के साथ आई टीम ने मुकदमा दर्ज कराया। प्रभारी निरीक्षक जयप्रकाश शर्मा ने बताया कि एंटी करप्शन टीम की ओर से कार्रवाई की जा रही है।  तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।