यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

STF ने फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले मास्टरमाइंड को किया गिरफ्तार


🗒 शुक्रवार, अगस्त 26 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
STF ने फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले मास्टरमाइंड को किया गिरफ्तार

कानपुर, । फर्जी वेबसाइट और साफ्टवेयर से फर्जी आधार कार्ड बनाने व संशोधन करने वाले गिरोह के मास्टर माइंड अनिल कुमार गौतम को एसटीएफ ने बर्रा विश्वबैंक स्थित एक मकान में बने आफिस से गिरफ्तार किया।वह मूलरूप से कानपुर देहात में अकबरपुर के गौरीपुर का रहने वाला है। एसटीएफ ने उसके आफिस से कई फर्जी आधार कार्ड, जीपीएस डिवाइस, थंब स्कैनर, विभिन्न लोगों के सर्टिफिकेट, निर्वाचन कार्ड, इलेक्ट्रानिक मीडिया का प्रेस कार्ड, लाइव कैमरा, प्रिंटर, रेटिना स्कैनर, तीन रजिस्टर, आठ मोहर आदि दस्तावेज बरामद किए।मामले में एसटीएफ के एसआइ ने अनिल के खिलाफ बर्रा थाने में धोखाधड़ी, कूटरचित दस्तावेज तैयार करना, षडयंत्र, आइटी एक्ट, आधार अधिनियम आदि धारा में मुकदमा दर्ज कराया है।लखनऊ में एसटीएफ के एसआइ मनोज सिंह के मुताबिक, बर्रा विश्वबैंक में गुरुदेव टावर स्थित एक आफिस में फर्जी आधार कार्ड बनने व संशोधन होने की सूचना मुखबिर से मिली थी। सूचना पर उनकी टीम ने शुक्रवार को उस आफिस में छापा मारा। जहां से आधार कार्ड बनाने वाले गिरोह के मास्टर माइंड को दबोचा।पूछताछ में उसने अपना नाम कानपुर देहात में अकबरपुर के गौरीपुर निवासी अनिल कुमार गौतम बताया। उसने बताया कि वर्ष 2021 में जीडीजी इंडिया साफ्टेवयर सल्यूशन प्रा.लि. के नाम से खोली थी। जिसका आफिस बर्रा विश्वबैंक में बनाया था। कंपनी की आड़ में वह फर्जी आधार कार्ड बनाने का काम करता है।इसके लिए उसने फर्जी वेबसाइट और साफ्टवेयर लखनऊ निवासी अमन उर्फ संदीप उर्फ हिमांशू और झारखंड निवासी गुलाम बोलस उर्फ पीयूष से 30 हजार रुपये में खरीदी थी। अपने लैपटाप से वेबसाइट के माध्यम से वह फर्जी व कूटरचित आधार कार्ड बनाने व संशोधन करने का काम करता है।पूछताछ में अनिल ने बताया कि उसने भी फर्जी आधार कार्ड बनाने व संशोधन करने वाली वेबसाइट और साफ्टवेयर को बिहार के बेतिया जिला के कमलनाथ नगर निवासी हिमांशू राज पांडेय, किशनगंज के बैगना निवासी गुरफान जावेद, मधुबनी कैंट के चानन निवासी गुलाब पासवान, चंपारन के मटरिया निवासी सोनू कुमार, मुजफ्फरपुर निवासी आनंद कुमार मोहन, लखनऊ के सत्यप्रकाश सिसोदिया, नोएडा के राहुल कुमार, उन्नाव के नरेंद्र कुमार उन्नाव, बस्ती के बाबूराम यादव समेत 15 से ज्यादा लोगों को अलग-अलग जिलों में 20 से 30 हजार रुपये में बेच चुका है।

कानपुर से अन्य समाचार व लेख

» किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज

» भाई के अत्याचार से परेशान पीड़िता ने प्रेस कांफ्रेंस कर मिडिया व अधिकारीयों को सुनाई अपनी पीड़ा,

» बिल्डर द्वारा पीड़ित पीड़िता ने प्रेस कांफ्रेस कर अपना दर्द मिडिया के सामने बया किया,

» गंगा में छलांग वाले पिता को पुलिस ने भेजा जेल

» हिन्दू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष को मिली जान से मारने की धमकी