यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

एडीएम सीपी पाठक की हत्या में सुप्रीमकोर्ट से बरी वासिफ ने प्रदेश सरकार से मांगे 15 करोड़


🗒 बुधवार, मई 29 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

एडीएम वित्त सीपी पाठक की हत्या के मामले में पुलिस द्वारा अभियुक्त बनाए गए वासिफ हैदर को सुप्रीमकोर्ट ने रिहा कर दिया है। अब वासिफ ने राज्य सरकार पर 15 करोड़ 1 लाख 23 हजार 240 रुपये क्षतिपूर्ति का दावा ठोंका है। सिविल जज सीनियर डिवीजन मोहम्मद रफी ने राज्य सरकार को नोटिस देकर मामले का ब्योरा देने को कहा है। अगली सुनवाई के लिए 27 जुलाई की तारीख तय की है।चमनगंज निवासी वासिफ हैदर के अधिवक्ता सिद्धांत शुक्ला ने बताया कि 16 मार्च 2001 को नई सड़क पर तत्कालीन एडीएम वित्त सीपी पाठक की दंगे के दौरान हत्या हो गई थी। पुलिस ने वासिफ हैदर को हत्या का दोषी मानते हुए चार माह बाद गिरफ्तार कर लिया। वासिफ उस समय एक मेडिकल कंपनी में एरिया सेल्स मैनेजर था और वार्षिक वेतन एक लाख 23 हजार 209 रुपये था।पुलिस ने वासिफ हैदर पर विभिन्न थानों में राष्ट्रद्रोह, दंगा भड़काने, हत्या, विस्फोटक अधिनियम, गैर कानूनी तरीके से असलहा रखने समेत कई गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया था। वह आठ साल जेल में रहा। लोवर कोर्ट ने वासिफ को हत्या में दोषी पाया लेकिन हाईकोर्ट से रिहा हो गया। राज्य सरकार फैसले के खिलाफ सुप्रीमकोर्ट गई लेकिन वहां कोई चश्मदीद गवाह उपलब्ध नहीं करा सकी और न ही कोई शिनाख्त कर पाया। 10 दिसंबर 2018 को सुप्रीमकोर्ट ने भी वासिफ को रिहा कर दिया। मंगलवार को अधिवक्ता सिद्धांत शुक्ला ने सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में क्षतिपूर्ति का मामला दाखिल किया।

एडीएम सीपी पाठक की हत्या में सुप्रीमकोर्ट से बरी वासिफ ने प्रदेश सरकार से मांगे 15 करोड़

कानपुर से अन्य समाचार व लेख

» हर्षिता अग्रवाल की मौत को दुर्घटना करार देने के प्रयास में जुटे सास-ससुर सीसीटीवी कैमरे ने खोला सच

» आइआइटी कानपुर प्रोफेसर की बेटी ने की आत्महत्या, कैंपस में छाया शोक

» ब्रिटिश इंडिया कारपोरेशन में 109 करोड़ का घोटाला, अब सीबीआई ने कसा शिकंजा

» कानपुर के विष्णुपुरी लूटकांड मे नौकर, लुटेरे की तीन बहनें व दो बच्चे गिरफ्तार

» बिठूर के नारामऊ चुंगी के पास भीषण सड़क हादसा, पूर्व राष्ट्रीय बॉक्सर और उसके भाई की मौत

 

नवीन समाचार व लेख

» पीजीआई मे पुलिसकर्मी एसटीएफ बन टप्पेबाजी करने वाला सक्रिय गिरोह का शातिर हुआ गिरफ्तार,तीन शातिर फरार

» नंदौली मार्ग पूरी तरह गड्ढों में हुआ तब्दील लोगों का चलना हुआ मुश्किल

» क्रेन से टकराई रोडवेज़ बस बाल बाल बचे यात्री

» बोलेरो ओवर टेक से ट्रक मे हुई टक्कर कई घायल पहुंचे सीएचसी

» आशियाना थाना क्षेत्र में दस दिन बाद भी अप्राकृतिक दुराचारी आरोपी पुलिस के गिरफ्त से दूर