यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कानपुर मे बारिश बनी काल जूही पुल के नीचे डूबे पुरोहित, छत ढहने से अधेड़ की गई जान


🗒 शुक्रवार, सितंबर 27 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

रातभर हुई बारिश के बाद जूही में खलवा पुल की ढाल पर भीषण जलभराव के चलते श्राद्ध कराने जा रहे यशोदा नगर निवासी 60 वर्षीय पुरोहित राजकुमार तिवारी की डूबने से मौत हो गई। शुक्रवार सुबह उनका शव उतराता मिला। स्थानीय लोगों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। तलाशी में मिले मोबाइल से पुलिस ने परिजनों को सूचना दी तो बेटा गणेश, बेटी लक्ष्मी व पत्नी उमा तिवारी मौके पर पहुंचे।बेटे गणेश के मुताबिक पिताजी पुरोहित थे। तड़के चार बजे वह घर से साइकिल लेकर नवाबगंज में गंगास्नान के बाद वहीं एक परिवार में श्राद्ध कराने जा रहे थे। जूही खलवा पुल की ढाल पर भीषण जलभराव में अफीमकोठी चौराहे की ओर जा रही एक कार्गो वैन और लोडर भी फंसी मिली। दोनों के चालकों के बारे में कोई जानकारी नहीं हुई है। वहीं बुजुर्ग की साइकिल का भी कुछ पता नहीं चला है। थाना प्रभारी जूही महेश वीर सिंह ने बताया कि बुजुर्ग ने साइकिल लेकर पानी से निकलने का प्रयास किया। वह पानी का अंदाजा नहीं लगा सके। जिससे डूबने से मौत हो गई। फॉरेंसिक टीम को शरीर पर कोई चोट आदि नहीं मिली है। पोस्टमार्टम के बाद स्थिति साफ होगी। वहीं घाटमपुर के पतारा कस्बा में सुबह 8 बजे बारिश के चलते कच्चे मकान की छत ढह गई। इसके मलबे में दबकर 50 वर्षीय वेद प्रकाश शर्मा की मौत हो गई।जलभराव में डूबने से मौत के बाद शुक्रवार को करीब 10 बजे जूही ढाल पर बने सम्पवेल को चालू करके पानी निकालने के प्रयास शुरू किए गए।बिठूर में देर रात से लगातार हो रही तेज बारिश की वजह से बिठूर के तात्या टोपे नगर नयागंज निवासी राजमिस्त्री का काम करने वाले रामरतन प्रजापति के घर का आधे से ज्यादा कच्चा मकान भरभरा कर गिर गया। बगल की कोठरी में सो रहे पत्नी सुधा देवी और बड़ा बेटा कुलदीप बाल बाल बचे। कुलदीप ने बताया वह मां के साथ दूसरे कमरे में सो रहा था तभी घर के दूसरी ओर रात तीन बजे कोठरी गिरने की आवाज आई कच्ची छत बारिश की वजह से भरभरा कर गिर पड़ी दोनो ने हड़बड़ी में भागकर जान बचाई। थोड़ी देर बाद दूसरा हिस्सा भी आधा गिर पड़ा। एक अन्य कोठरी की कच्ची छत में बड़ा छेद हो गया जिससे मकान में पानी भर गया। गृहस्थी का सामान भी भीग गया। कुलदीप ने बताया कि पिता ने 5 साल पहले और 2 साल पहले मां ने प्रधानमन्त्री आवास योजना के लिए आवेदन किया लेकिन आवास आज तक नही मिला।

कानपुर मे बारिश बनी काल जूही पुल के नीचे डूबे पुरोहित, छत ढहने से अधेड़ की गई जान

कानपुर से अन्य समाचार व लेख

» कानपुर में एक दिन में मिले रिकॉर्ड 29 कोरोना पॉजिटिव मरीज, आंकड़ा 418 पहुंचा

» कानपुर नगर में एक दिन में दो की मौत और नौ संक्रमित मिले

» जुआ खेलने का विरोध करने पर दबंगों ने पड़ोसी घर धावा बोला

» कोरोना संक्रमण से बचने को प्रधानमंत्री जी द्बारा घोषित लाक डाऊन ने मध्यम वर्गीय जनता को भेजा कोमा मे

» सचेंडी एसओ ने 14 वर्ष से बिछुड़ी वृद्ध माँ को उनके परिवारीजनो से मिलाकर परिवार व लोंगो का दिल जीता ।

 

नवीन समाचार व लेख

» सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव पर अभद्र टिप्पणी करने का आरोपित गोरखपुर में गिरफ्तार

» यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर परीक्षा का परिणाम 27 को, 51 लाख से अधिक परीक्षार्थी

» यूपी में 69000 सहायक शिक्षक चयन फिर लटका, हाई कोर्ट ने भर्ती प्रक्रिया पर लगाई अंतरिम रोक

» कानपुर में एक दिन में मिले रिकॉर्ड 29 कोरोना पॉजिटिव मरीज, आंकड़ा 418 पहुंचा

» फर्रुखाबाद में पुलिस टीम पर हमला, दाराेगा और सिपाहियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा