यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मुठभेड़ के बाद विकास दुबे के चचेरे भाई अनुराग दुबे समेत दस आराेपितों पर मुकदमा


🗒 रविवार, जनवरी 10 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मुठभेड़ के बाद विकास दुबे के चचेरे भाई अनुराग दुबे समेत दस आराेपितों पर मुकदमा

कानपुर, । बिकरू गांव में भंडारे के के दौरान दो गुटों के बीच मारपीट में पुलिस ने दूसरे दिन घटना में शामिल रहे सिपाही की तहरीर पर अनुराग दुबे समेत दस लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास और बलवा समेत कई धाराओं में मुकदमा किया है। पुलिस अब तक 16 लोगों को शांति भंग में पाबंद कर चुकी है। अनुराग दुबे पुलिस मुठभेड़ में मारे गए विकास दुबे का चचेरा भाई है। बिकरू गांव में दो जुलाई की रात दबिश के दौरान सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का दी गई थी। मुख्य आरोपित हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के एनकाउंटर में मारे जाने के बाद उसका खौफ अब गांव वालों में खत्म हो चुका है, लेकिन दूसरे लोग वर्चस्व जमाने की जंग में कूद पड़े हैं। पंचायत चुनाव के लिए गुट तैयार हो रहे हैं। शुक्रवार शाम डिब्बा निवादा गांव में आयोजित भंडारे के दौरान गांव निवासी राजकीय रेलवे पुलिस में तैनात सिपाही अजीत यादव व अनुराग दुबे समर्थकों के बीच कहासुनी के बाद मारपीट हो गई थी। झगड़े में चार लोगों को मामूली चोटें आई हैं। अजीत भी परिवार के सदस्य को चुनाव लड़वाने की तैयारी कर रहा है। पुलिस ने मौके से मनोज, मोनू, राजेंद्र, नन्हे, प्रदीप व अजीत यादव को गिरफ्तार कर लिया था। रविवार को पुलिस ने अजीत यादव की तहरीर पर अनुराग दुबे, उसके भाई अमित व बीनू दुबे, गांव के पुष्पेंद्र, सतीश, नीरज, रामदयाल, लाखन ङ्क्षसह समेत दस लोगों पर हत्या के प्रयास व बलवा का  मुकदमा दर्ज किया है। तहरीर में आरोप है कि अनुराग व उसके समर्थक प्रसाद वितरण के समय आकर झगड़ा करने लगे। विरोध करने पर लाठियों से हमला किया। अनुराग ने अवैध असलहे से फायर भी किया। एसओ कृष्ण मोहन राय ने बताया कि एक पक्ष की ओर से मिली तहरीर पर मुकदमा किया गया हैं। अभी दूसरे पक्ष की ओर से तहरीर नही मिली है।पंचायत चुनाव को लेकर बिकरू व अति संवेदनशील गांवो में झगड़े व बवाल की आशंका के चलते थाना पुलिस ने उच्च अधिकारियों से अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की हैं। चार जेब्रा बाइक और बिकरू मोड़ पर एक उपनिरीक्षक समेत दस पुलिस कर्मियों की तैनाती की भी मांग की गई है।पूर्व जिला पंचायत सदस्य रीता दुबे के पति अनुराग दुबे ने बताया कि उन्हेें गलत फंसाया जा रहा हैं। वह मारपीट की घटना के दौरान गांव में नही थे। वह मामले में उच्च अधिकारियों से गुहार लगाएंगे। 

कानपुर से अन्य समाचार व लेख

» कानपुर में चोर को पीटते हुए चौकी प्रभारी व सिपाही का वीडियो वायरल, DCP East ने किया लाइनहाजिर

» कानपुर में युवक ने राष्ट्रपति पर की अभद्र टिप्पणी तो कथित भतीजे ने कराई FIR

» घाटमपुर में पुलिस भर्ती का फार्म लेने निकली युवती से सामूहिक दुष्कर्म, पुलिस के हत्थे चढ़े तीनों आरोपित

» कानपुर में ATM से 14 लाख की नकदी गायब, हिरासत में लिए गए कैश लोड करने वाली कंपनी के तीन संदिग्ध

» कानपुर में एसजीएसटी के असिस्टेंट कमिश्नर की पत्नी ने फांसी लगा जान दी

 

नवीन समाचार व लेख

» यूपी में धर्मस्थलों में एक बार में सिर्फ पांच को प्रवेश, शासन ने जारी की गाइडलाइन

» कोरोना की मार से बेजार कामगार, मुंबई-पुणे से लौट रहे लोगों में लॉकडाउन का खौफ

» हत्यारोपित भांजा 50 लाख रुपयों संग गिरफ्तार, चोरी के रुपयों से खरीदी थी बाइक

» कानपुर में चोर को पीटते हुए चौकी प्रभारी व सिपाही का वीडियो वायरल, DCP East ने किया लाइनहाजिर

» चित्रकूट में लॉकडाउन का पालन कराने पहुंचे अफसरों पर जानलेवा हमला, पथराव और तोड़फोड़ करने वालों पर मुकदमा दर्ज