यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कानपुर में खनन माफिया ने साथियों के साथ डीएफसीसी सुपरवाइजर पर चलाई गोली, छह हमलावर पुलिस की गिरफ्त में


🗒 रविवार, जनवरी 10 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
कानपुर में खनन माफिया ने साथियों के साथ डीएफसीसी सुपरवाइजर पर चलाई गोली, छह हमलावर पुलिस की गिरफ्त में

कानपुर,। बिधनू कोरियां क्षेत्र में शनिवार देर रात खनन माफिया ने कई साथियों के साथ डीएफसीसी ( डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर) के सुपरवाइजर पर जानलेवा हमला कर दिया। हमलावरों ने डीएफसीसी की तीन गाड़ियों में तोड़फोड़ शुरू कर दी। सूचना पर पुलिस की गाड़ी आते देख हमलावर मौके से भाग निकले। पुलिस देर रात उरियारा स्थित एक ढाबा में खाना खा रहे आरोपितों पकड़ने पहुंची तो आरोपितों ने पुलिस से हाथापाई शुरू कर दी। पुलिस ने फोर्स बल का प्रयोग करते हुए छह आरोपितों को दबोच लिया। वहीं तीन हमलावर मौका पाकर भाग निकले। राजस्थान जयपुर के नेवटा गांव निवासी रामदयाल जाट कोरियां क्षेत्र में डीएफसीसी के सुपरवाइजर पद पर नियुक्त हैं। जो निर्माणाधीन कॉरिडोर में मिट्टी आपूर्ति का काम कराते हैं। रामदयाल के मुताबिक शनिवार शाम को उनके फोन पर न्योरी निवासी खनन माफिया बाबू सिंह यादव उर्फ गुड्डू की कॉल आई। कॉल रिसीव करने पर गुड्डू ने हर माह 50 हजार रुपये की रंगदारी देने की मांग की। जिस पर उन्होंने रेलवे के काम का हवाला देते हुए रंगदारी देने से इंकार कर दिया। आरोप है कि गुड्डू ने फोन पर गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दी।देर रात कोरियां क्षेत्र में जहां मिट्टी खोदाई का काम चल रहा था, वहां गुड्डू तीन कारों में साथी पंकज यादव, अजय परिहार, रमन यादव, मोनू राजपूत, विनय यादव, समेत 10 लोग तमंचे और हॉकी लेकर पहुंच गए। गुड्डू ने फिर से धमकी दी कि रंगदारी नहीं देना तो क्षेत्र से काम बंद कर भाग जाओ। विरोध करने पर सभी डीएफसीसी की गाड़ियों मरण तोड़फोड़ करने लगे। इस दौरान गुड्डू ने कमर से रिवाल्वर निकालकर उसपर जान से मारने की नियत से फायर कर दिया। किसी प्रकार गाड़ियों की आड़ लेकर रामदयाल ने जान बचाई। बवाल की सूचना पर पुलिस को आता देख सभी हमलावर मौके से भाग निकले। थाना प्रभारी पुष्पराज सिंह ने बताया कि सुपरवाइजर की तहरीर पर आरोपितों के खिलाफ बलवा, सरकारी काम में बाधा, जानलेवा हमला, समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।  गुड्डू  के खिलाफ बिधनू थाने में  अवैध खनन, आर्म एक्ट, जान से मरने का प्रयास समेत कई मुकदमे दर्ज हैं। आरोपितों के पास से तीन कार, दो-दो तमंचे और कारतूस, 10 हजार की नकदी बरामद हुई है। आरोपित  गुड्डू समेत पंकज, अजय, रमन, मोनू, विनय को जेल भेज दिया गया है। 

कानपुर से अन्य समाचार व लेख

» कानपुर में दो दिन तक कुएं में बेसुध पड़ी रही मासूम

» विकास दुबे के कई शस्त्र अब भी पुलिस की पकड़ से दूर, सामने आया हथियारों का MP कनेक्शन

» रनियां में मासूम से दुष्कर्म के आरोपित कानपुर के शातिर को पुलिस मुठभेड़ में गोली लगी

» सिपाही बनकर छापेमारी और उगाही करने वाला चढ़ा पुलिस के हत्थे

» बिकरू कांड मे जांच के दायरे में आए 23 पुलिसकर्मियों ने दिए बयान

 

नवीन समाचार व लेख

» युवती के मोबाइल पर आ रहे थे अश्लील मैसेज, वीमेन पावर लाइन में शिकायत

» सीसी कैमरे में नायब सूबेदार के साथ दिखा सूबेदार

» लखनऊ में 27 निजी समेत 78 अस्पतालों में लगेगी वैक्सीन

» श्रावस्ती में छापेमारी में बरामद हुई 10 लाख की खैर की लकड़ी

» यूपी सचिवालय के समीक्षा अधिकारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत