यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्जी सिम मामले में आरोपितों के खिलाफ दाखिल हुई चार्जशीट, बुलडोजर मामले में टली सुनवाई


🗒 गुरुवार, फरवरी 18 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
फर्जी सिम मामले में आरोपितों के खिलाफ दाखिल हुई चार्जशीट, बुलडोजर मामले में टली सुनवाई

कानपुर, । बिकरू कांड में आरोपितों पर पुलिस ने फर्जी दस्तावेज लगाकर सिम लेने का मुकदमा दर्ज कराया था, जिसकी सुनवाई विशेष न्यायाधीश दस्यु प्रभावित कोर्ट में चल रही है। मामले में आठ आरोपितों के खिलाफ चार्जशीट गुरुवार को दाखिल की गई है। वहीं इन आरोपितों के बयान दस्यु प्रभावित कोर्ट में न्यायालय ने दर्ज किए है और मामले की सुनवाई के लिए तीन मार्च की तिथि नियत की है।चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में दो जुलाई 2020 को विकास दुबे व गैंग से जुड़े 60-70 लोगों ने दबिश देने गई पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी थी। घटना में आठ पुलिस कर्मियों की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि कई लोग घायल हो गए। इसकी सुनवाई विशेष न्यायाधीश दस्यु प्रभावित कोर्ट में चल रही थी। पुलिस ने बाद में घटना से जुड़े आरोपितों पर फर्जी दस्तावेज लगाकर सिम लेने का मुकदमा भी दर्ज कराया था।फर्जी दस्तावेज लगाकर सिम लेने के मामले में गुरुवार को पुलिस ने चार्जशीट दाखिल है। वहीं मामले से जुड़े आरोपित राम सिंह यादव, शशिकांत पांडेय, शिव तिवारी उर्फ आशुतोष, शांति देवी, रेखा अग्निहोत्री, विष्णुपाल उर्फ जिलेदार, रवींद्र कुमार उर्फ रामू बाजपेयी, अखिलेश कुमार उर्फ छोटे शुक्ला को न्यायालय में पेश किया गया। मामले से जुड़े सभी आरोपितों के न्यायालय में बयान दर्ज किए गए। वहीं न्यायालय ने सुनवाई के लिए अगली तारीख तीन मार्च नियत की है। सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता प्रदीप पांडेय ने बताया कि फर्जी सिम मामले में न्यायालय में चार्जशीट दाखिल हो गई है। आठ आरोपित न्यायालय में पेश हुए थे। अब सुनवाई के लिए तीन मार्च की तिथि नियत की है। बिकरू कांड में विकास दुबे गैंग ने जिस बुलडोजर की मदद से पुलिस का रास्ता रोका था, उसे पुलिस ने जब्त कर लिया था। चौबेपुर थाने में खड़े बुलडोजर को छुड़ाने के लिए बचाव पक्ष ने विशेष न्यायाधीश दस्यु प्रभावित कोर्ट में प्रार्थनापत्र दिया गया था, जिसकी सुनवाई गुरुवार को नहीं हो सकी और अब न्यायालय ने तीन मार्च की तिथि नियत की है। सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता प्रदीप पांडेय ने बताया कि अब तीन मार्च को सुनवाई होगी।

कानपुर से अन्य समाचार व लेख

» स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एक्सप्रेस के पैंट्रीकार में मिला नोटों से भरा बैग

» अमर दुबे की पत्नी मामले में प्रधानाचार्य के बयान दर्ज, अब पांच दिन बाद फिर होगी सुनवाई

» कानपुर में महिला ने ली समाधि

» कानपुर में राम मंदिर के नाम पर धोखाधड़ी कर रहे दो गिरफ्तार

» 29 वर्ष पुराने मामले में दोषी ठहराए जाते ही कोर्ट से फरार हुआ हिस्ट्रीशीटर

 

नवीन समाचार व लेख

» एडवोकेट ओमकार सिंह सुसाइड मामले में एक आरोपित ने भी लगाई फांसी

» लखनऊ में आर संस के निदेशक की संपत्ति होगी कुर्क, लुभावनी स्कीम का झांसा देकर सैकड़ों लोगों से की ठगी

» दिलीप मिश्र की बेल निरस्त कराने हाई कोर्ट पहुंची यूपी सरकार

» फर्जी सिम मामले में आरोपितों के खिलाफ दाखिल हुई चार्जशीट, बुलडोजर मामले में टली सुनवाई

» फर्रुखाबाद में खेत गए युवक की गोली मारकर हत्या