नारायण सिंह भाजपा से निष्कासित, एक दिन पहले छिना था मंत्री पद

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

नारायण सिंह भाजपा से निष्कासित, एक दिन पहले छिना था मंत्री पद


🗒 शुक्रवार, जून 04 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
नारायण सिंह भाजपा से निष्कासित, एक दिन पहले छिना था मंत्री पद

कानपुर,। हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह को पुलिस की जीप से उतार कर फरार करने में मदद करने वाले भाजपा दक्षिण जिला के मंत्री रहे नारायण सिंह को शुक्रवार को भाजपा दक्षिण जिला इकाई ने पार्टी से निकाल दिया है। हालांकि इस मामले में अभी राजवल्लभ पांडेय के ऊपर पार्टी ने कोई कार्रवाई नहीं की है। उस पर भी मनोज को भगाने का मुकदमा है। वहीं मौके पर दूसरे भाजपा नेताओं के साथ नजर आ रहे शिव वीर सिंह भदौरिया पर पार्टी अभी कोई कार्रवाई करने के मूड में नहीं है।कोरोना संकट के दौरान बिना किसी अनुमति बर्थडे पार्टी आयोजित कर भीड़ जुटाने वाले भाजपा दक्षिण जिला मंत्री नारायण सिंह भदौरिया ने पार्टी से ही मनोज सिंह को पुलिस द्वारा पकड़े जाने पर हंगामा किया था और भाजपा नेता व अन्य साथियों के साथ हंगामा कर मनोज को पुलिस की पकड़ से छुड़ाकर भगा दिया था। भारतीय जनता पार्टी ने गुरुवार को उसे पद से हटा दिया था। दूसरी ओर शुक्रवार को दक्षिण जिलाध्यक्ष डॉ.बीना आर्या ने उसे जिले की प्राथमिक सदस्यता से भी हटा दिया।पार्टी पदाधिकारी इसके बाद भी उसे बचाने के मूड में हैं। पदाधिकारियों के मुताबिक उसकी गलती सिर्फ यह थी कि उसने कोरोना काल में पार्टी की। मनोज सिंह को किसने छुड़ाया यह नहीं कहा जा सकता। दूसरी ओर युवा मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष राजवल्लभ पांडेय पर पार्टी कोई भी कार्रवाई करने के मूड में नही है। सभी का कहना है कि वह इस समय पार्टी में किसी भी जिम्मेदारी पर नहीं है। वहीं युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष शिव वीर सिंह के संबंध में पार्टी नेता कह रहे हैं कि वह प्रदेश के पदाधिकारी हैं। वहां के लोग चाहें तो उन पर कार्रवाई कर सकते हैं।