लिफ्ट देने के बहाने ले गए नकदी से भरा बैग

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लिफ्ट देने के बहाने ले गए नकदी से भरा बैग


🗒 शुक्रवार, जुलाई 02 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लिफ्ट देने के बहाने ले गए नकदी से भरा बैग

कानपुर, । काफी समय बाद दक्षिण क्षेत्र में स्कूटी वाला टप्पेबाज गिरोह फिर से सक्रिय हुआ है। शातिर ने लिफ्ट देने के बहाने से भतीजी की शादी में शामिल होने लखनऊ जा रहे बुजुर्ग का नकदी और कपड़े भरा बैग उड़ा दिया। पीड़ित ने नौबस्ता पुलिस से शिकायत की है। पुलिस ने घटनास्थल के पास एक पेट्रोल पंप पर लगे सीसीटीवी कैमरे चेक कराए तो उसमें गाड़ी तो कैद हुई, लेकिन नंबर स्पष्ट नहीं हो पाया है। पुलिस आरोपित की तलाश कर रही है।बर्रा-दो निवासी आरएन मिश्र एक संस्था से सेवानिवृत्त हैं। गुरुवार को लखनऊ में रहने वाली भतीजी के शादी समारोह में शामिल होने के लिए निकले थे। आटो से नौबस्ता चौराहे पहुंचे थे। जहां वह लखनऊ जाने के लिए सवारी का इंतजार कर रहे थे। तभी एक स्कूटी सवार ने आकर उन्नाव जाने के लिए उनसे रास्ता पूछा तो उन्होंने उसे फ्लाईओवर से रामादेवी होते हुए जाने की जानकारी दी। बातचीत के दौरान शातिर ने उनसे पूछा कि कहां जाना है। जिस पर उन्होंने लखनऊ जाने की जानकारी दी। शातिर ने उन्हें लिफ्ट देने के बहाने से गाड़ी में बैठा लिया। सर्विस रोड होकर एसआर पेट्रोल पंप तक पहुंचे थे कि शातिर ने गाड़ी में पेट्रोल खत्म होने की बात कही। पंप से कुछ दूरी होने के चलते शातिर ने उन्हें वहीं उतार दिया। बैग गाड़ी में आगे पावदान पर रखा था। शातिर पेट्रोल भराने की बात कहकर उनका बैग ले उड़ा। जिसमें 15 हजार की नकदी, कपड़े और भतीजी को शादी में देने के लिए पायल और बिछिया समेत अन्य सामान था। टप्पेबाजी का एहसास होने पर उन्होंने नौबस्ता थाने जाकर आपबीती सुनाई। जिसके बाद चौकी पुलिस ने घटनास्थल पहुंचकर पेट्रोल पंप के सीसीटीवी फुटेज चेक किए। फुटेज में शातिर और गाड़ी फोटो तो कैद हुई है, लेकिन फोटो स्पष्ट न होने से न तो चेहरा साफ नजर आ रहा है न ही गाड़ी का नंबर। नौबस्ता थाना प्रभारी सतीश कुमार सिंह का कहना है कि मामले की जांच कराई जा रही है। जांच कर कार्रवाई की जाएगी।