यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

दस्यु सुंदरी सीमा यादव ने सुपारी लेकर कराई थी बिठूर की शशि की हत्या


🗒 रविवार, जुलाई 11 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
दस्यु सुंदरी सीमा यादव ने सुपारी लेकर कराई थी बिठूर की शशि की हत्या

कानपुर,। बिठूर थाना क्षेत्र के मकसूदाबाद नई बस्ती में शुक्रवार देर रात महिला शशि उर्फ अंगूरी की हत्या चंबल की डकैत रही दस्यु सीमा यादव ने 50 हजार रुपये सुपारी लेकर अपने तीन शूटरों से कराई थी। यह सुपारी शशि के पैतृक गांव में रहने वाले रसूलाबाद स्थित प्राइमरी स्कूल के हेडमास्टर महेश शर्मा ने दी थी। महेश से शशि के अवैध संबंध थे। जांच में पता चला है कि शशि हेडमास्टर को ब्लैकमेल कर लाखों रुपये वसूल चुकी थी। रविवार को पुलिस ने सीमा यादव, तीन शूटरों, आरोपित हेडमास्टर व उसके बेटे को गिरफ्तार कर वारदात का राजफाश कर दिया।शशि उर्फ अंगूरी देवी की शुक्रवार देर रात करीब 2:00 बजे छत पर सोते समय गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। सुबह पड़ोसी ने चारपाई के पास शव पड़ा देखकर उसके स्वजन व पुलिस को सूचना दी थी। इसके बाद पुलिस ने आकर जांच शुरू की। पड़ोसी से पूछताछ में पुलिस को पता लगा कि शुक्रवार शाम शशि ने उनके मोबाइल फोन से शिवली कानपुर देहात निवासी रसूलाबाद स्थित प्राइमरी स्कूल के हेड मास्टर से बात की थी और उन्हेंं घर आने के लिए कहा था, लेकिन महेश ने आने से इन्कार कर दिया था। जांच में यह भी सामने आया कि इसके बाद रात करीब 10:00 बजे शशि ने दोबारा महेश को फोन किया, लेकिन महेश ने फोन नहीं उठाया। इसके बाद पुलिस का शक महेश पर गहराया। पुलिस ने महेश और उसके बेटे अमित शर्मा से पूछताछ शुरू की तो वारदात का राजफाश हुआ।डीसीपी पश्चिम संजीव त्यागी ने बताया कि पूछताछ में महेश व उसके बेटे अमित ने बताया कि उन्होंने अकबरपुर कानपुर देहात कोतवाली के सामने नेहरू नगर में रहने वाली दस्यु सुंदरी सीमा यादव को 50000 रुपये सुपारी देकर शशि की हत्या करवाई थी। महेश ने बताया कि शशि से वर्ष 2018 से उसके अवैध संबंध थे। शशि लगातार उसे ब्लैकमेल कर रही थी और आॢथक शोषण कर रही थी। मकसूदाबाद स्थित जिस मकान में वहां रह रही थी वह भी महेश शर्मा ने ही 700000 रुपये देकर बनवाया था। शशि और महेश के रिश्तो की जानकारी उसके बेटे अमित शर्मा को भी थी। अमित ने ही शशि को मरवाने के लिए कहा था। उसके बाद पिता पुत्र अकबरपुर जाकर सीमा यादव से मिले। सीमा यादव ने अपने तीन शूटरों मंगलपुर निवासी अनुज उर्फ अनुराग यादव, सत्यम शर्मा व अंबेडकर नगर के बसखारी निवासी अमर यादव को भेजकर वारदात कराई।डीसीपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों के पास से वारदात में प्रयुक्त प्लैटिना बाइक तमंचा, रस्सा, सुपारी के करीब 14000 रुपये, मृतका का जिओ कंपनी का मोबाइल फोन और अनुज की खून से सनी शर्ट बरामद हुई है।