यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जमीन विवाद में चौकी इंचार्ज ने दारोगा को पीटा


🗒 मंगलवार, सितंबर 07 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
जमीन विवाद में चौकी इंचार्ज ने दारोगा को पीटा

कानपुर, । कानपुर के बिधनू में न्यू आजाद नगर चौकी में जमीन विवाद में पुलिस की पुलिस की दुश्मन बन गई। खुद का प्लाट बताकर निर्माण करा रहे दारोगा और चौकी इंचार्ज के बीच मारपीट हो गई। इस दौरान दारोगा की हालत बिगड़ गई, जिस पर उसे ह्वदयरोग संस्थान में भर्ती कराया गया।नौबस्ता सिमरा गांव निवासी दारोगा सुनील कुमार झांसी के नवाबाद थाना में तैनात हैं। उन्होंने बताया कि उनका 3 सितंबर को लखनऊ स्थानांतरण हो गया। जिस पर वह छुट्टी लेकर घर आये हुए थे। बताया कि वर्ष 2004 में पत्नी नीलम के नाम गंगापुर तालाब के पास एक प्लाट खरीदा था, जिसका वह दो दिन से निर्माण करा रहे थे। आरोप है कि मंगलवार दोपहर चौकी इंचार्ज शिव प्रकाश सिंह फोर्स के साथ पहुंचे और गाली गलौज करते हुए निर्माण बंद करने की बात कही। कारण पूछने पर चौकी इंचार्ज ने पीटना शुरू कर दिया। पत्नी नीलम ने बचाने का प्रयास किया तो उन्हेंं भी पीटा। इसके बाद उन्हेंं घसीटते हुए जीप में डालकर थाने ले गए। थाने में दारोगा की तबीयत बिगडऩे पर सीएचसी में भर्ती कराया गया। जहां डांक्टर ने उन्हेंं ह्वदयरोग संस्थान रेफर कर दिया।वहीं चौकी इंचार्ज शिवकुमार ने बताया कि जमीन पर यशोदानगर निवासी अनिल त्रिपाठी ने एक माह पहले बाउंड्रीवाल कराई थी। जिसको दारोगा सुनील ने तोड़कर निर्माण शुरू करा दिया, जिसकी शिकायत अनिल ने चौकी में आकर की। इस पर सिपाही भेजकर दारोगा सुनील को चौकी बुलाया था। दारोगा ने सिपाहियों से दुव्र्यवहार करने के साथ काम नहीं रोका, जिसके बाद वो खुद पहुंचे तो दारोगा अपने भाइयों समेत हमलावर हो गए। फोर्स बुलाकर दारोगा को हिरासत में लिया गया, जबकि उसके भाई समेत अन्य साथी मौके से भाग निकले। दारोगा बीपी का मरीज है, जिसकी वजह से उसकी तबीयत बिगड़ी है। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।