यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जिसे मान बैठे थे बुढ़ापे की लाठी, उसने ही घोट दिया गला


🗒 शनिवार, सितंबर 11 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
जिसे मान बैठे थे बुढ़ापे की लाठी, उसने ही घोट दिया गला

कानपुर, । महाराजपुर बौसर निवासी बुजुर्ग लालजी यादव ने सपना संजोया था कि उनकी इकलौती बेटी का इकलौता बेटा बुढ़ापे की लाठी बनेगा। लेकिन चार बीघे जमीन के लालच में उसी नाती ने नाना की हत्या कर दी।आरोपित ने अपने दोस्त के साथ बुजुर्ग की गला दबाकर हत्या की थी। पहचान मिटाने को ज्वलनशील पदार्थ डालकर चेहरा जला दिया था। पुलिस ने हत्यारोपित नाती को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।महाराजपुर के बौसर निवासी 70 वर्षीय बुजुर्ग लालजी यादव की हत्या उनके नाती आशीष यादव उर्फ जीतू ने अपने दोस्त सत्यम के साथ मिलकर की थी। हत्यारोपित आशीष ने बताया कि नाना चार बीघे जमीन अपने भाई व भतीजों को देना चाहते थे।आशीष नाना से पूरी जमीन मां शशी के नाम कराना चाहता था। लेकिन इसके लिए लालजी तैयार नहीं थे। जिसकी खुन्नस में आशीष बीती दो सितंबर को अपने दोस्त सत्यम के साथ लालजी को बाइक में बिठाकर बिनगवां ले गया।रेलवे लाइन के किनारे तीनों ने मिलकर शराब पी। इसी दौरान जमीन को लेकर विवाद हो गया।तभी आशीष ने लालजी को धक्का दे दिया, वो गिर पड़े।इसके बाद दोनों ने मिलकर लालजी की गला दबाकर हत्या कर दी।हत्या करने के बाद दोनों आरोपितों ने ज्वलनशील पदार्थ डालकर लालजी के शव को जला दिया।ताकि शव की पहचान न होने पाए।6 सितंबर को उनका शव कंकाल के रूप में बिधनू बिनगवां स्थित रेलवे लाइन किनारे झाडिय़ों में मिला था। शव के पास मिले कपड़ों व जूते से लालजी के भतीजे संदीप ने शिनाख्त की थी।बौसर के कुछ लोगों ने घटना वाले दिन आशीष के साथ लालजी को जाते देखा था।जानकारी पर पुलिस ने 24 वर्षीय आशीष को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो आशीष ने दोस्त सत्यम के साथ नाना की हत्या करने की बात कबूल ली।घटनास्थल के पास से पुलिस को मृतक का आधार कार्ड,बैंक पास बुक,खाली शराब की बोतल व एक पिपिया बरामद हुई है। हत्यारोपित आशीष मृतक लालजी की इकलौती बेटी शशि व दामाद शिशुपाल निवासी बिनगवां बिधनू का बेटा है। सीओ सदर सुशील कुमार दुबे ने बताया कि हत्या के आरोपित आशीष को जेल भेज दिया गया है। दोस्त सत्यम की तलाश की जा रही है। मुकदमे में आरोपित शशि व उसके पति शिशुपाल की भी भूमिका की जांच हो रही है।जो भी दोषी होगा कठोर कार्रवाई की जाएगी।