परीक्षा देने आए डाक्टरों पर पथराव, विवाद के बाद दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

परीक्षा देने आए डाक्टरों पर पथराव, विवाद के बाद दौड़ा-दौड़ाकर पीटा


🗒 रविवार, सितंबर 12 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
परीक्षा देने आए डाक्टरों पर पथराव, विवाद के बाद दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

कानपुर,  बाहर के जनपदों से नेशनल एलिजिबिलिटी कम इंट्रेंस टेस्ट (नीट) देने आए कुछ डाक्टरों ने शनिवार रात स्वरूपनगर थाना क्षेत्र में रेस्टोरेंट के बाहर बस्ती वालों से विवाद कर लिया। देखते ही देखते विवाद मारपीट तक पहुंच गया, बस्ती वालों ने डाक्टरों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा और पथराव कर उनकी कार भी क्षतिग्रस्त कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस को देख हमलावर फरार हो गए। मुकदमा दर्ज कर हमलावरों की शिनाख्त की कोशिश की जा रही है।शनिवार को नीट में शामिल होने के लिए हमीरपुर के एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) में तैनात डा.दीपक भी आए थे। वह जीएसवीएम मेडिकल कालेज के पूर्व छात्र हैं। उनके साथ कुछ और डॉक्टर साथी भी परीक्षा देने आए थे। स्वरूप नगर थाना क्षेत्र में गेस्ट्रो लिवर हास्पिटल के पास स्थित छोटी गुटैया बस्ती के करीब एक रेस्टोरेंट में रात करीब 10 बजे डा. दीपक अपने चार साथियों के साथ पहुंचे। उन्होंने कार बस्ती जाने वाली सड़क पर एक किनारे खड़ी कर दी। इसी बीच बस्ती के किसी स्कूटी सवार युवक से कार खड़ी करने को लेकर डाक्टरों से कहासुनी और हाथापाई हो गई। देखते ही देखते बस्ती के लोग जुट गए और उन्होंने सभी डाक्टरों को पीटना शुरू कर दिया। उनकी कार भी पथराव करके तोड़ दी। पुलिस आते ही हमलावर भाग निकले।इंस्पेक्टर स्वरूपनगर अश्विनी कुमार पांडेय ने बताया कि बस्ती में पूर्वांचल में रहने वाले मजदूर रहते हैं। कई लोगों को हिरासत में लिया गया, मगर हमलावर पकड़ में नहीं आए। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कार्रवाई की जा रही है। वहीं, मेडिकल कालेज की उप प्राचार्य प्रो. रिचा गिरी ने बताया कि रात में मारपीट की सूचना मिली थी, जिसके बाद उन्होंने डा. यशवंत को मामला देखने को कहा था। डा.दीपक कालेज के पूर्व छात्र हैं। पुलिस कार्रवाई कर रही है।