यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

रिश्वतखोरी में फंसे इंस्पेक्टर, मुकदमा दर्ज होते ही चुपचाप गायब, एसपी ने किया निलंबित


🗒 शनिवार, जून 06 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
रिश्वतखोरी में फंसे इंस्पेक्टर, मुकदमा दर्ज होते ही चुपचाप गायब, एसपी ने किया निलंबित

डेरापुर थाने में अपने ही खिलाफ मुकदमा दर्ज होने की भनक लगते ही शनिवार को इंस्पेक्टर चुपचाप निकल गए और फिर लौटे नहीं। ईंट भट्ठा संचालक की शिकायत पर एएसपी की जांच के बाद मिली रिपोर्ट के आधार पर एसपी ने कार्रवाई की है, साथ ही उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। एएसपी को जांच के दौरान रिश्वत लेने संबंधी वीडियो आैर ऑडियो मिले, जिसके बाद कार्रवाई की गई है।डेरापुर क्षेत्र के एक ईंट भट्ठा संचालक ने करीब एक सप्ताह पहले एसपी को शिकायत की थी कि इंस्पेक्टर नीरज यादव ने ट्रैक्टर ट्राली पकड़कर परेशान कर रहे हैं। ट्रैक्टर-ट्राली छोड़ने के एवज में उनसे 70 हजार रुपयों की मांग की थी। इनकार पर पुलिसिया दबाव बनाना शुरू कर दिया, मजबूर उन्हें सत्तर हजार रुपये रिश्वत इंस्पेक्टर को दी। शिकायत पर एसपी अनुराग वत्स ने प्रकरण की जांच एएसपी अनूप कुमार को सौंपी थी।एएसपी ने जांच की तो रिश्वत लेने की पुष्टि हुई, उन्हें रिश्वत लिए जाने के वीडियो और ऑडियो भी मिले। इसके बाद उन्होंने अपनी जांच रिपोर्ट एसपी कार्यालय भेज दी थी। शनिवार को एसपी ने तत्काल प्रभाव से नीरज यादव को निलंबित कर दिया और शिकायतकर्ता की तहरीर पर इंस्पेक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। सुबह अपने ही थाने में मुकदमा दर्ज होने की जानकारी हुई तो इंस्पेक्टर नीरज यादव गिरफ्तारी से पहले ही चुपचाप निकल गए। एसपी ने बताया कि जनपद में किसी भी पुलिसकर्मी द्वारा ऐसा कृत्य बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, सभी ईमानदारी से अपनी ड्यूटी करें।

कानपुर देहात से अन्य समाचार व लेख

» खिचड़ी में नशीला पदार्थ मिलाकर बच्चों को देने से नौ की हालत खराब

» नशेबाजी के विवाद में युवक की डंडों से पीटकर हत्या

» शादी में पुलिस के साथ हुई पत्नी की एंट्री, दुल्हन संग भागा पति

» नहीं पहुंचे बचाव पक्ष के अधिवक्ता, 17 को होगी अमर दुबे की पत्नी के मामले की सुनवाई

» कानपुर देहात में हाथों में मेहंदी सजाए बैठी रही दुल्हन, नहीं आई बारात तो उठाया आत्मघाती कदम