यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

किशोरी से छेड़खानी में निलंबित SO दोषी करार


🗒 गुरुवार, सितंबर 02 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
किशोरी से छेड़खानी में निलंबित SO दोषी करार

कानपुर देहात, । किशोरी से छेडख़ानी और उसे प्रताड़ित करने के मामले में एसडीएम और सीओ की जांच समिति ने निलंबित थानाध्यक्ष विनोद कुमार को दोषी माना है। उन्होंने अपनी रिपोर्ट डीएम व एसपी को सौंप दी है। इसके बाद एसपी के आदेश पर निलंबित थानाध्यक्ष के खिलाफ उसी राजपुर थाने में पाक्सो एक्ट, मारपीट व धमकाने की धारा में मुकदमा दर्ज हुआ, जहां वह इंचार्ज थे।  राजपुर थानाक्षेत्र के एक गांव निवासी किसान की 14 वर्षीय बेटी को रविवार को पूछताछ के लिए थानाध्यक्ष विनोद कुमार ने बुलाया था। इसके बाद घर आकर किशोरी ने जहर खा लिया था। किशोरी के शरीर पर नोचने के कई निशान थे। उसकी मां ने आरोप लगाया था कि थानाध्यक्ष ने धमकाने के साथ ही छेडख़ानी की। उसे प्रताड़ित किया गया था, इससे परेशान होकर वह ये कदम उठा बैठी। इस समय किशोरी का इलाज एलएलआर अस्पताल (हैलट) में चल रहा है। मामले में बुधवार को एसपी ने विनोद कुमार को निलंबित कर दिया था। मामले में  एसडीएम रसूलाबाद अंजू वर्मा व सीओ लाइन तनु उपाध्याय जांच कर रहीं थीं। उन्होंने किशोरी व निलंबित एसओ का बयान लेने के साथ ही थाने में पुलिसकर्मियों से पूछताछ की थी। समिति ने अपनी रिपोर्ट डीएम जेपी ङ्क्षसह व एसपी केशव कुमार चौधरी को दी थी। जांच समिति ने एसओ पर लगे आरोप को गंभीर प्रकृति का माना है। इसके अलावा विनोद कुमार को किशोरी को धमकाने व अभद्र व्यवहार का दोषी माना। एसपी के आदेश पर एसआइ जीतमल की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। तहरीर में किशोरी को एसओ के धमकाने, गले से टी-शर्ट पकड़कर खींचने व जबरन मोबाइल मोबाइल देखने की कोशिश की व अभद्रता का जिक्र किया गया है। राजपुर थाने में दर्ज मुकदमे की जांच सीओ सिकंदरा रविकांत करेंगे। एसपी ने बताया कि निलंबित थानाध्यक्ष के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। एसडीएम व सीओ की रिपोर्ट में कहा गया है कि निलंबित थानाध्यक्ष ने विधिक प्रक्रिया का पालन नहीं किया। नियम है कि नाबालिग से पूछताछ करनी है तो पुलिसकर्मी वर्दी में नहीं होना चाहिए। उसके स्वजन साथ में हों ताकि नाबालिग दहशत में घबराए नहीं। पूछताछ के दौरान निलंबित थानाध्यक्ष वर्दी पहने थे और किशोरी की मां साथ नहीं थी। 

कानपुर देहात से अन्य समाचार व लेख

» किशोरी से छेडख़ानी व प्रताड़ना के आरोप में एसओ निलंबित

» गनफैक्ट्री में नौकरी का झांसा देकर युवक से दो लाख हड़पे

» फेक सिमकार्ड मामले की सुनवाई में कोर्ट नहीं पहुंची रिचा दुबे

» चीलम पीने के विवाद में साधु की चाकू से चेहरा रेतकर हत्या

» रिचा दुबे को 23 अगस्त को पेश होने के आदेश

 

नवीन समाचार व लेख

» राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने के लिए की गई बैठक

» डीएम ने प्रेस वार्ता कर डेंगू, मलेरिया, बुखार आदि रोगों से बचाव की दी जानकारी

» अभिलेखों का शत प्रतिशत सत्यापन सुनिश्चित किया जाय: अनूप कुमार, आचार्य

» तीसरी लहर से निपटने के पुख्ता इंतेजाम व सुदृढ व्यवस्था रखने के दिये निर्देश

» डेगू, मलेरिया, बुखार आदि नियंत्रण विशेष अभियान जन-जन को बताये: कंचन वर्मा