यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

प्रेमजाल में फंसाकर अपहरण, तीन लोग गिरफ्तार


🗒 बुधवार, सितंबर 08 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
प्रेमजाल में फंसाकर अपहरण, तीन लोग गिरफ्तार

कौशांबी, । कड़ाधाम थाना क्षेत्र के अफजलपुर सातो से संदिग्ध हालात में अपहृत मतांतरण करने वाले गुलाम गौस के मामले में जांच कर रही पुलिस ने चौंकाने वाले मामले का पर्दाफाश किया है। साल भर पहले प्रेमी के चक्कर में फंसकर मतांतरण का शिकार युवती को पुलिस ने गुलाम गौस के घर से बरामद कर लिया। उससे पूछताछ के बाद पुलिस ने प्रेमी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर मामले का राजफाश किया जबकि अपहृत गुलाम गौस को लेकर अभी भी पुलिस अफसर चुप्पी साधे हुए हैं। प्रेस काफ्रेंस के बाद मंगलवार को पुलिस ने पकड़े गए आरोपितों को न्यायालय में पेश कराकर जेल भेजवाया।अफजलपुर सातो गांव में रहने वाले मसाला व्यापारी गुलाम गौसम उर्फ रतिभान का चार पहिया वाहन सवार लोगों ने शनिवार की शाम बाजार से घर लौटते समय अपहरण कर लिया था। इसके बाद उसके घर से एक युवती को भी उठा लिया गया। लोगों ने शक जाहिर किया था कि उन दोनों को पुलिस की एसओजी ने उठाया है। जबकि पुलिस अफसर ऐसी बातों को सिरे से इन्कार करते रहे। हालांकि दूसरे दिन पुलिस अधीक्षक राधेश्याम ने युवती को पकड़कर पूछताछ किए जाने की बात बताई, लेकिन गुलाम गौस के बारे में भी किसी भी तरह की जानकारी से इन्कार कर दिया। बहरहाल इस बीच युवती से पूछताछ के बाद एसओजी टीम ने कोखराज पुलिस की मदद से रसूलपुर काजी कोखराज निवासी मोहम्मद अस्सान रजा व उसके भाई मोहम्मद मुस्तफा के अलावा मामा मोहम्मद अतीक निवासी मूरतगंज को गिरफ्तार किया।पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जिस युवती को अफजलपुर सातो से पकड़ा गया है, उससे पूछताछ में यह बात सामने आई कि वह मोहम्मद अस्सान रजा से प्रेम करती थी। साल भर पहले अस्सान उसे अपने साथ शादी का झांसा देकर भगा ले गया। युवती के भाई ने अस्सान व उसके भाई मुस्तफा के खिलाफ अपहरण का केस भी दर्ज कराया था। एसपी के मुताबिक युवती ने बताया कि अस्सान ने दूसरे धर्म का होने के कारण उस पर मतांतरण का दबाव डाला। युवती ने धर्म परिवर्तन कर लिया तब भी उसने शादी से इन्कार कर दिया। इसके बाद अस्सान ने भाई मुस्तफा व अतीक के साथ मिलकर कुछ माह बाद युवती की शादी अफजलपुर सातो निवासी गुलाम गौस से करा दी। गुलाम गौस ने भी नौ साल पहले मतांतरण किया था। बहरहाल पूरे प्रकरण में पुलिस ने अस्सान, मुस्तफा व अतीक को गिरफ्तार कर जेल तो भेज दिया, लेकिन गुलाम गौस के बारे में अभी चुप्पी साध रखी है।मतांतरण प्रकरण में अफजलपुर सातो से बरामद युवती से पूछताछ के बाद पुलिस टीम ने प्रेमी अस्सान, उसके भाई मुस्तफा व अतीक को गिरफ्तार कर मामले का पर्दाफाश किया, लेकिन गुलाम गौस कहां है, इसे लेकर पुलिस अफसरों कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं। हालांकि नाटकीय अंदाज में लापता गुलाम गौस के बारे में लोग यह कयास लगा रहे हैं कि युवती का अदालत में गोपनीय बयान और मेडिकल परीक्षण के बाद गुलाम गौस की कोई भूमिका उजागर होती है तो उसे भी पुलिस जल्द ही पर्दे से बाहर लेकर आएगी।