यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखीमपुर में शक की वजह से पति ने पत्नी को मौत के घाट उतारा


🗒 सोमवार, जून 22 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

बरबर के मुहल्ला गांधीनगर में रेनू के घर रविवार की रात सबकुछ सामान्य था। उसके बच्चों को एहसास भी नहीं था कि यह रात उनके लिए ममता की आखिरी रात है। आज के बाद उनको सोते समय मां की लोरियां सुनने को नहीं मिलेंगी। मां का आंचल हमेशा के लिए उनके सिर से हट जाएगा। सोमवार की अलसुबह जागने के बाद रेनू अपने बच्चों बादल (06), रक्षा (05) व आयुष (03) को बिस्तर से उठाकर चाय नाश्ता तैयार करने लगी। इसी बीच पति बबलू के साथ रेनू की बहस शुरू हो गई। बातचीत बढऩे पर बबलू ने रेनू के साथ मारपीट करते हुए उसकी गर्दन पर चाकू से प्रहार करना शुरू कर दिया। चाकू की चोट से रेनू छटपटाते हुए अपनी जान बचाने की नाकाम कोशिश करने लगी। मां को तड़पता देख मासूम बादल व रक्षा ने बबलू से कहा पापा, मम्मी को न मारो... मम्मी मर जाएंगी लेकिन, किस्मत को शायद कुछ और ही मंजूर था। रेनू के लिए काल बन चुके बबलू ने बच्चों के साथ अपने हमसफर की चीखों को नजरअंदाज करते हुए तब तक उस पर प्रहार किए, जब तक उसकी जान नहीं चली गई। रसोई से कुछ दूर पर घायल होकर गिरी रेनू ने बच्चों व पति के सामने दम तोड़ दिया। मां के साथ होने वाले जुर्म को मासूम बच्चे बेबस देखते रहे। सात फेरों के पवित्र बंधन के दरमियान पत्नी की सुरक्षा का वचन देने वाला बबलू ही अपनी पत्नी रेनू के लिए काल बन जाएगा यह तो कभी उसने सोंचा ही नहीं होगा।बबलू को अपनी गर्भवती पत्नी पर कोई तरस नहीं आया। रेनू चीख चीखकर कहती रही कि वह निर्दोष है उसका दामन पवित्र है लेकिन, बबलू के मन में शंका का घर इतना मजबूत था कि उसे यह तक नहीं दिखा कि उसके मासूमों से ममता की छांव हट जाएगी। मां की मौत व पिता के जेल जाने के बाद तीनों मासूम बेसहारा हो गए। बच्चों को उनके नाना खुशीराम अपने साथ ले गए।

लखीमपुर में शक की वजह से पति ने पत्नी को मौत के घाट उतारा

लखीमपुर खीरी से अन्य समाचार व लेख

» लखीमपुर खीरी मे छह माह की गर्भवती पत्नी की गर्दन पर धारदार हथियार से प्रहार, एक शक पर उतारा मौत के घाट

» पलिया में व्यापारी नेता रवि गुप्ता ने फूंका चीन के राष्ट्रपति का पुतला

» निघासन में सालो से एक ही थाने में जमे तीन पुलिस कर्मियों का अभी तक नही हुआ तबादला आखिर किसके संरक्षण में जमे पुलिस कर्मी अभी तक क्यों नही पड़ी किसी भी अधिकारी की नजर

» कोटेदार की दबंगई से परेशान ग्रामीण कोटेदार के खिलाफ उठाया मोर्चा

» बैंक कर्मी के द्वारा किसान के साथ की गई बदसलूकी को भाकियू लोकतांत्रिक संगठन ने लिया संज्ञान डीएम को सौंपा ज्ञापन

 

नवीन समाचार व लेख

» कानपुर छावनी परिषद के स्टोर इंचार्ज की कोरोना से मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 979

» पिंटू सेंगर हत्याकांड मे कई दिन से हत्यारे कर रहे थे रेकी, एक पल में पिंटू पर दागीं 16 गोलियां

» मेरठ में बैंक मैनेजर समेत आज 19 पॉजिटिव, कुल संक्रमितों की संख्‍या 801

» बागपत में कार से आए बदमाशों ने हिस्ट्रीशीटर परमवीर समेत पांच पर बरसाईं गोलियां, मची भगदड़

» प्रतापगढ में तैनात दारोगा ने की आपत्तिजनक टिप्पणी, सोशल मीडिया पर वायरल