यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखीमपुर में इस बार नहीं होगा पौराणिक छोटी काशी गोला गोकर्णनाथ का सावन मेला


🗒 मंगलवार, जून 23 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी का प्रकोप लगातार बढ़ा रहा है। इसी बीच आगामी माह में छह जुलाई से सावन माह आरंभ होने को लेकर प्रशासन की चिंता वायरस को लेकर बढ़ गई हैं। लखीमपुर में मंगलवार को जिलाधिकारी शैलेन्द्र सिंह, पुलिस अधीक्षक पूनम ने गोला के पौराणिक मंदिर परिसर में मंदिर कमेटी सहित शहर के अन्य मंदिरों के सेवादार व पुजारियों के साथ बैठक कर सावन मेले में होने वाली भीड़ को लेकर रणनीति तैयार की।मंदिर कमेटी व पुजारियों के साथ विचार विमर्श व भीड़-भाड़ पर अंकुश लगाने के लिए प्रशासन ने मेले को पूरी तरह रोक लगाने का निर्णय लिया। साथ ही सावन के सोमवारों को मंदिर परिसर में सिर्फ भगवान का पूजन व श्रंगार का आयोजन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त मंदिर के कपाट बंद रहेगे। बता दें, सावन माह छह जुलाई से आरंभ हो रहा है। जनपद में छोटी काशी गोला गोकर्णनाथ स्थित पौराणिक शिवालय में प्रतिवर्ष जुलाई माह में विशाल मेला लगता है। जिसमें दूर दराज से लाखों की संख्या में भक्त, श्रद्वालु, कावडिए गंगाजल की कावंडे लाकर भूतभावन भगवान आशुतोष का जलाभिषेक कर मत्था टेकते है। लेकिन इस बार कोरोना महामारी में संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन ने उच्च स्तरीय रणनीति तय करते हुए सावन मेले को स्थगित करने का निर्णय लिया है। साथ ही प्रशासन सावन मेले पर रोक के प्रतिबंध को लेकर प्रचार प्रसार कर दूर दराज तक यह संदेश पहुंचाने का प्रयास करेगा। जिससे कि बाहर से आने वालों पर रोक लगाई जा सके।सोमवार को भक्तों के लिए मंदिर पूरी तरह से बंद रहेगा। तथा अमावस्या व पूर्णिमा पर भी मंदिर के कपाट भक्तों के लिए बंद रखे जाएगे। सावन माह में पहला सोमवार 6 जुलाई, दूसरा सोमवार 13 जुलाई, तेरस 18 जुलाई, तीसरा सोमवार 20 जुलाई, नागपंचमी 25 जुलाई, चैथा सोमवार व बाबा भूतनाथ मेला 27 जुलाई, शिवतेरस व बकरीद 1 अगस्त, पांचवा व अंतिम सोमवार 3 अगस्त को पड रहा है। इस मौके पर एसडीएम अखिलेश यादव, पुलिस क्षेत्राधिकारी रवीन्द्र कुमार वर्मा, प्रभारी निरीक्षक अनिल कुमार यादव सहित मंदिर कमेटी के जनार्दन गिरि, नरसिहं भारती, पंडित प्रमोद कुमार पांडे, अवधेश जायसवाल सहित गणमान्य लोग मौजूद रहे।जिलाधिकारी शैलेन्द्र सिंह ने बताया कि कोरोना महामारी के संकट को लेकर इस बार गोला ही नहीं अपितु जिले के समस्त मंदिरों में दर्शनों के लिए रोक लगाई जाएगी। छोटी काशी गोला का सावन मेला विख्यात है। जिस कारण यहां दूर दराज से भक्त श्रद्वालु गंगाजल की कांवडे लेकर आते है। जिससे संक्रमण का खतरा बढ सकता है। इस कारण शिव मंदिर कमेटी व शहर के अन्य मंदिरों के पुजारियों के साथ आज बैठक कर निर्णय लिया गया। कि सावन माह में छोटी काशी गोला के मंदिर सोमवार को भक्तों के लिए बंद किए जाएगे। जबकि मंदिरों में नियमित पूजन अर्चन के लिए पुजारियों को ही अनुमति रहेगी।  

लखीमपुर में इस बार नहीं होगा पौराणिक छोटी काशी गोला गोकर्णनाथ का सावन मेला

लखीमपुर खीरी से अन्य समाचार व लेख

» लखीमपुर में शक की वजह से पति ने पत्नी को मौत के घाट उतारा

» लखीमपुर खीरी मे छह माह की गर्भवती पत्नी की गर्दन पर धारदार हथियार से प्रहार, एक शक पर उतारा मौत के घाट

» पलिया में व्यापारी नेता रवि गुप्ता ने फूंका चीन के राष्ट्रपति का पुतला

» निघासन में सालो से एक ही थाने में जमे तीन पुलिस कर्मियों का अभी तक नही हुआ तबादला आखिर किसके संरक्षण में जमे पुलिस कर्मी अभी तक क्यों नही पड़ी किसी भी अधिकारी की नजर

» कोटेदार की दबंगई से परेशान ग्रामीण कोटेदार के खिलाफ उठाया मोर्चा

 

नवीन समाचार व लेख

» सीएम योगी आदित्यनाथ ने बनाया रोजगार देने का रिकॉर्ड, 26 जून को मेगा शो से जुड़ेंगे पीएम नरेंद्र मोदी

» लखनऊ में प्रशासन ने कैरियर डेंटल कॉलेज का अवैध निर्माण गिराया, व‍िभाग को सौंपी जमीन

» गोंडा में आभूषण दिखाने के बहाने चोरी, एक गिरफ्त में-एक फरार

» बाराबंकी में पूर्व प्रधान के बेटे को बाइक सवार तीन बदमाशों ने घेरा, 50 हजार लूटे

» लखीमपुर में इस बार नहीं होगा पौराणिक छोटी काशी गोला गोकर्णनाथ का सावन मेला