यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जिला निर्वाचन कार्यालय में नामाकन के लिए दो प्रत्याशियों के काफिले व समर्थकों पर पाबंदी


🗒 शुक्रवार, जनवरी 20 2017
🖋 अमित कुमार, सहसंपादक बुंदेलखंड

अमित शुक्ला :- बुंदेलखण्ड -ललितपुर

          विधानसभा चुनाव नामाकन के लिए दो प्रत्याशियों के काफिले एक साथ कलेक्टरेट परिसर स्थित जिला निर्वाचन कार्यालय में नहीं जाएंगे और न ही किसी भी प्रत्याशी के समर्थक की ओर से नारेबाजी की जाएगी। पुलिस महकमे ने नामाकन प्रक्रिया को पूरी तरह सुरक्षित और पारदर्शी बनाने की रणनीति तैयार कर ली है। नामाकन के दौरान हर गतिविधियों पर निगाह रखने के लिए सादे वर्दीधारी वॉचर्स भी लगाए जाएंगे।

         पुलिस अधीक्षक डि. प्रदीप कुमार के अनुसार निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले में विधानसभा क्षेत्र 226 ललितपुर एवं विधानसभा क्षेत्र 227 महरौनी के निर्वाचन दिनाक 13 फरवरी को सम्पन्न होना है एवं मतगणना दिनाक 11 मार्च 2017 को प्रस्तावित है। इसके पूर्व जिले में निर्वाचन की अधिसूचना दिनाक 30 जनवरी को नाम निर्देशन के लिए अन्तिम तिथि नौ फरवरी है, चूंकि दोनों विधानसभा क्षेत्रों का उक्त कार्यक्रम कलेक्ट्रेट परिसर स्थित जिला निर्वाचन कार्यालय में सम्पन्न होने है, जहा विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रत्याशी अपने कार्यकर्ताओं के साथ जुलूस के रूप में नामाकन करेगे, जिसमें लगभग रोज काफी संख्या में भीड़ की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। इसे दृष्टिगत रखते हुए पुलिस अधीक्षक के निर्देशों के क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने क्षेत्राधिकारी चुनाव व सीओ सिटि हिमाशु गौरव ने नामाकन के दौरान सुरक्षा इतजामों की रणनीति तैयार कर ली है, जिसके प्रशासनिक अफसरों से समन्वय स्थापित करके नामाकन स्थल का भ्रमण कर लिया जाएगा। नामाकन के समय नामाकन कक्ष से 100 मीटर की परिधि में मजबूत बैरिकेटिग कराई जाएगी, साथ ही यह यह सुनिश्चित किया जाएगा कि किसी भी दशा में 100 मीटर परिधि में कोई वाहन, शस्त्र अथवा आपत्तिजनक वस्तु न प्रवेश कर पाए। नामाकन कक्ष के गेट पर भी डीएफएमडी व एचएचएमडी की व्यवस्था की जाएगी। परिधि में प्रवेश करने वाले व्यक्तियों की तलाशी पुलिस कर्मी तथा महिलाओं की तलाशी महिला पुलिस कर्मी एवं महिला होमगार्ड द्वारा कराई जाएगी। बैरिकेटिग के पास बनाये गये प्रवेश द्वार पर डीएफएमडी व एचएचएमडी की जाच से होकर ही लोगों को गुजरने दिया जाएगा। किसी भी दशा में एक समय दो प्रत्याशियों को नामाकन के लिए निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में नहीं भेजा जाएगा। राजनैतिक दलों एवं प्रत्याशियों से पूर्व में ही समन्वय स्थापित करके यह सुनिश्चित किया जाएगा कि एक साथ दो प्रत्याशियों का जुलूस नामाकन के लिए न पहुचे। नामाकन कक्ष के द्वार पर भी पुलिस कर्मी की डयूटि लगाई जाएगी। प्रशासनिक अफसरों की मौजूदगी में चेकिंग की विडियोग्राफी कराई जाएगी। सम्पूर्ण नामाकन स्थल की प्रत्येक दिन एण्टीसेबोटाज चेकिंग कराई जाएगी। नामाकन स्थल की बैरिकेटिग के बाहर प्रत्याशियों के जुलूस के साथ आने वाले वाहन की पार्किग की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाएगी। भारत निर्वाचन आयोग से तय मानकों के अनुरूप ही नामाकन में वाहनों को शामिल किया जा सकेगा। नामाकन स्थल विशेषकर निर्वाचन अधिकारी कार्यालय कक्ष में प्रत्याशी एवं उनके समर्थकों एवं प्रस्तावकों को किसी भी प्रकार की नारेबाजी अथवा विरोध प्रदर्शन नहीं करने दिया जाएगा। नामाकन स्थल पर फायर टैण्डर की व्यवस्था रखी जाएगी। नामाकन के समय लगाए गए पुलिस बल की नामवार डयूटि लगाई जाएगी। समर्थकों की बढ़ी तादाद के चलते कानून व्यवस्था सम्बन्धी समस्याओं से निपटने के लिए नामाकन स्थल पर एण्टीसाइट उपकरण से युक्त पर्याप्त संख्या में पुलिस की उपलब्ध रहेगे। नामाकन स्थल के आसपास के भवनों पर सादे वस्त्र में वॉचर्स भी मुस्तैद रहेगे।