यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

एटीएस की विशेष अदालत में पेश क‍िया गया अब्बासी, न्यायिक हिरासत में भेजा जेल


🗒 सोमवार, मई 02 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
एटीएस की विशेष अदालत में पेश क‍िया गया अब्बासी, न्यायिक हिरासत में भेजा जेल

लखनऊ, । गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में तैनात पीएसी के जवानों पर हमला करने व आतंकी गतिविधियों के मामले में पुलिस रिमांड पर चल रहे अभियुक्त अहमद मुर्तजा अब्बासी को अदालत ने 13 मई तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। सोमवार को उसे एनआइए/एटीएस की विशेष अदालत के समक्ष पेश किया गया था। बीती 25 अप्रैल को विशेष अदालत ने उसे सात दिन के लिए एटीएस की कस्टडी में सौंपने का आदेश दिया था।चार अप्रैल, 2022 को इस मामले की एफआइआर विनय कुमार मिश्र ने थाना गोरखनाथ में दर्ज कराई थी। गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में तैनात पीएसी के जवान अनिल कुमार पासवान पर अभियुक्त ने अचानक बांके से हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। उनकी रायफल छीनने का प्रयास किया तो वह सड़क पर गिर गई थी। उन्हें बचाने के लिए दूसरा जवान आया तो जान से मारने की नीयत से उस पर भी धारदार हथियार से हमला कर दिया। मौके पर मौजूद अन्य पुलिसकर्मियों ने घायल जवान व उनकी राइफल को उठाया।इस दौरान अभियुक्त बांका लहराते हुए मजहबी नारे लगाने लगा और पीएसी पोस्ट की ओर दौड़ा। इससे लोगों में अफरातफरी मच गई। उसके हाथ पर एक बड़े बांस से प्रहार किया गया, जिससे बांका गिर गया। फिर आवश्यक बल प्रयोग कर उसे पकड़ा गया। अब्बासी के पास से अन्य वस्तुओं के अलावा उर्दू में लिखी एक मजहबी किताब भी बरामद हुई थी।मुर्तजा ने लोन वुल्फ अटैक (छोटे हथियार के साथ अकेले हमला करना) किया था और उसका इरादा पुलिसकर्मियों पर बांके से हमला कर उनके हथियार छीनकर बड़ी घटना करने का था। गोरखपुर निवासी मुर्तजा ने तीन अप्रैल को गोरखनाथ मंदिर परिसर में पुलिसकर्मियों पर हमला किया था, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। पांच अप्रैल को एटीएस ने इस केस की विवेचना शुरू की थी।