यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी


🗒 सोमवार, मई 02 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी

लखनऊ, । राजभवन अस्पताल में तैनात फार्मासिस्ट ने नौकरी दिलाने के नाम पर 4.50 लाख रुपये की ठगी कर ली। पीड़ित ने रुपयों की मांग की तो आरोपित फार्मासिस्ट ने धमकी दी। पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर फार्मासिस्ट समेत दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।इंस्पेक्टर हजरतगंंज श्याम बाबू शुक्ला ने बताया कि पीड़ित अंबिका प्रसाद यादव मूल रूप से प्रतापगढ़ पट्टी के रहने वाले हैं। उन्होंने बताया कि वर्ष 2018 में एक कार्यक्रम में उनकी मुलाकात घनश्याम यादव से हुई। उन्होंने खुद को राजभवन अस्पताल में तैनात फार्मासिस्ट बताया था। वह राजभवन भी ले गए थे। बातचीत के दौराने बेटे की राजभवन अस्पताल में नौकरी लगवाने का दावा किया। घनश्याम ने नौ लाख रुपये की मांग की। पहले 4.50 लाख रुपये की मांग की बाकी की रकम नौकरी लगने के बाद। इस पर विश्वास हो गया। 4.50 लाख रुपये की चेक दी।घनश्याम ने चेक अपने दोस्त उमेश चंद्र के नाम से ली थी। कुछ दिन बार परिणाम निकला बेटे का सूची में नाम नहीं था। विरोध पर घनश्याम टाल मटोल करने लगा। रुपयों की मांग की तो उसने चेक दी वह बाउंस हो गई। इसके बाद गाली-गलौज करने लगा। मामले की जानकारी डीसीपी मध्य अपर्णा कौशिक को दी। इसके बाद आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ। इंस्पेक्टर ने बताया कि आरोपित घनश्याम का स्थानांतरण राजभवन अस्पताल से लखीमपुर खीरी के लिए हो गया है।