यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लेनदेन को लेकर दुल्‍हन ने घर में फांसी लगाकर जान दे दी


🗒 गुरुवार, मई 19 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
लेनदेन को लेकर दुल्‍हन ने घर में फांसी लगाकर जान दे दी

लखनऊ, । पसंद की बाइक न मिलने से नाराज दूल्हे ने जयमाल के बाद शादी से इनकार कर दिया और मंडप से वापस लौट गया। इससे नाराज दुल्हन ने आत्महत्या कर ली। इस घटना से पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। दो दिन पहले तक गांव में शादी की तैयारियों को लेकर हर तरफ खुशनुमा माहौल था। वहीं, दुल्हन की आत्महत्या से अब मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। सभी की जुबान पर तरह-तरह की चर्चा है।ग्रामीणों ने बताया कि माल के नरायणापुर गहदो निवासी अमित की बेटी संध्या की शादी थी। संध्या की शादी नौबस्ता सलेहनगर निवासी ठाकुरदीन के बेटे अमर बहादुर से हो रही थी। शादी में कोई कमी न रहे, इसका पूरा ख्याल रखा गया। दहेज के लिए दूल्हे की हर मांग पूरी की गई। आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण मांगी गई अपाचे बाइक की जगह स्प्लेंडर खरीदी गई थी। रविवार 15 मई को बरात दरवाजे पहुंची। धूमधाम से बरात का स्वागत किया गया। दूल्हा व उसके दोस्त नाचते-गाते स्टेज पर पहुंचे। वहां जयमाल संपन्न हुआ। इसके बाद दूल्हे की नजर स्टेज से उतरते ही दहेज में मिली बाइक पर पड़ गई तो वह भड़क गया। उसने शादी से इनकार कर दिया। दुल्हन पक्ष के लोग मान-मनौव्वल में जुट गए, लेकिन दूल्हा अचानक उठा और अपने रिश्तेदारों के साथ मंडप से निकल गया।ग्रामीणों ने यह भी बताया कि लड़के वालों की तरफ से जेवर कम आने की वजह से लड़की के घरवालों ने उन्हें काफी भला-बुरा कहा था। इसी से नाराज होकर बारात वापस हो गई थी। दूल्हा जहां बाइक के लिए हंगामा कर रहा था। वहीं जैसे ही मंडप में कार्यक्रम शुरू हुआ तो घर की महिलाओं ने जेवरात देख नाराजगी जाहिर की। इस बात पर दोनों पक्षों में काफी देर तक कहासुनी चलती रही। इस पर नाराज दूल्हा और उसके करीबी रिश्तेदार वहां से चले गए। दूल्हा पक्ष दुल्हन को जेवरात नहीं देना चाहता था। आरोप है कि बाइक तो सिर्फ बहाना था। घटना से सदमे में आई दुल्हन संध्या ने सोमवार की रात घर में ही फांसी लगा ली थी। घरवालों ने अज्ञात कारणों से आत्महत्या किए जाने की बात कही है। थानाध्यक्ष माल रविन्द्र कुमार ने बताया कि पीड़ित परिवार ने किसी पर आरोप नहीं लगाया है। सही तथ्यों की खोजबीन की जा रही है। संध्या की मां शांति ने बताया कि हम बहुत परेशान हैं। हमें किसी पर कोई आरोप नहीं लगाना।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» 50 दिनों में 594 करोड़ की संपत्ति मुक्त

» मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के दो हजार बच्चों को लैपटाप देगी योगी सरकार

» यूपी विधानसभा में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला कल करेंगे प्रबोधन कार्यक्रम का शुभारंभ

» डीजीपी डीएस चौहान की बड़ी कार्रवाई, उन्नाव में तीन व बिजनौर में एक गिरफ्तार

» सीएम योगी ने किया ई-विधान केन्द्र का लोकार्पण