यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

यूपी विधानमंडल का बजट सत्र कल से


🗒 रविवार, मई 22 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
यूपी विधानमंडल का बजट सत्र कल से

राज्यपाल के अभिभाषण से होगी शुरुआत;

 

हंगामा होने के पूरे आसार

लखनऊ । उत्तर प्रदेश विधानमंडल का बजट सत्र सोमवार से शुरू होगा। वर्ष 2022 के साथ ही यह अठारहवीं विधान सभा का भी पहला सत्र होगा। इस सत्र में राज्य सरकार वित्तीय वर्ष 2022-23 का बजट पारित कराएगी। सत्र की शुरुआत राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण से होगी। बजट सत्र इस मायने में खास होगा कि इसमें पहली बार विधान सभा की कार्यवाही नेशनल ई-विधान एप्लीकेशन के तहत संचालित होगी। विपक्ष भी सदन में सरकार को घेरने की तैयारी कर रहा है। इस लिहाज से सत्र के दौरान हंगामा होने के आसार हैं।सोमवार सुबह 11 बजे विधान सभा मंडप में विधान परिषद और विधान सभा सदस्यों की संंयुक्त बैठक के समक्ष राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का अभिभाषण शुरू होगा। अपने अभिभाषण में वह राज्य सरकार के कामकाज का विवरण देंगी। इसके बाद दोनों सदनों में अभिभाषण पढ़कर सुनाया जाएगा। फिर राज्यपाल के अभिभाषण पर सरकार की ओर पेश किये जाने वाले धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा होगी।26 मई को सरकार दोनों सदनों में वित्तीय वर्ष 2022-23 का बजट पेश करेगी। योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल का यह पहला बजट होगा। विधानमंडल के पिछले सत्र के बाद लाये गए चार अध्यादेशों के प्रतिस्थानी विधेयकों को भी सरकार बजट सत्र में पारित कराएगी। इनमें भातखंडे राज्य संस्कृति विश्वविद्यालय अध्यादेश, 2022, उत्तर प्रदेश राज्य विश्वविद्यालय (संशोधन) अध्यादेश, 2022, उत्तर प्रदेश औद्योगिक क्षेत्र विकास (संशोधन) अध्यादेश, 2022 और उत्तर प्रदेश निजी विश्वविद्यालय (संशोधन) अध्यादेश, 2022 शामिल हैं।योगी सरकार के पहले व दूसरे कार्यकाल में यह पहला मौका है जब विधान सभा के साथ विधान परिषद में भी सत्ता पक्ष का बहुमत है। विधान सभा में सत्ता पक्ष के बहुमत के बावजूद विपक्ष का संख्याबल बढ़ा है। लिहाजा विपक्ष, खासतौर पर समाजवादी पार्टी और उसके सहयोगी दल महंगाई, बिजली कटौती, राशन वितरण, बेरोजगारी, कानून व्यवस्था और किसानों की समस्याओं जैसे मुद्दे पर सरकार को घेरने की भरपूर कोशिश करेंगे। इस लिहाज से विधानमंडल सत्र हंगामाखेज होने के आसार हैं।सत्र के दौरान विधान सभा की कार्यवाही के सुचारु संचालन के उद्देश्य से रविवार को विधान भवन में सर्वदलीय बैठक हुई। बैठक में विधान सभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही के संचालन में सभी दलों से सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि सदन की कार्यवाही निर्बाध तरीके से संचालित होगी तो अधिक से अधिक सदस्यों, खासतौर पर नए सदस्यों को अपनी बात रखने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस नए सत्र में ई-विधान लागू किए जाने से विधान सभा में नवाचार हुआ है।इस बार विधानसभा सत्र की कार्यवाही का सजीव प्रसारण डीडी न्यूज के साथ-साथ यूट्यूब पर भी किया जाएगा। बैठक में मुख्यमंत्री तथा नेता सदन योगी आदित्यनाथ ने सत्र के सुचारु संचालन में सत्ता पक्ष के पूर्ण सहयोग का आश्वासन देते हुए कहा कि सदन की उच्च गरिमा और मर्यादा को बनाए रखते हुए गम्भीर चर्चा को आगे बढ़ाने से लोकतंत्र के प्रति आमजन की आस्था बढ़ती है।संसदीय कार्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने बताया कि सभी दलों ने सदन की कार्यवाही के निर्बाध संचालन में सहयोग का आश्वासन दिया है। इससे पहले विधान सभा की कार्यमंत्रणा समिति की बैठक हुई जिसमें 28 मई तक के कार्यक्रम पर चर्चा हुई।बैठक में सपा विधानमंडल दल के उप नेता इन्द्रजीत सरोज, अपना दल (सोनेलाल) के राम निवास वर्मा, राष्ट्रीय लोकदल के राजपाल बालियान, निषाद पार्टी के अनिल कुमार त्रिपाठी, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के जगदीश नारायण, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की आराधना मिश्रा, जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के रघुराज प्रताप सिंह और बहुजन समाज पार्टी के उमाशंकर सिंह शामिल हुए।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» सड़कों पर न फैलाएं गंदगी और वैक्सीन लगवाएं - सीएम योगी

» राशन कार्ड सरेंडर या निरस्तीकरण के आदेश को उत्तर प्रदेश सरकार ने बताया भ्रामक

» मायावती नेपेट्रोल तथा डीजल के दाम कम करने के निर्णय को सराहा

» सीएम योगी आदित्यनाथ ने की सर्वदलीय बैठक

» पुलिस ने अवैध देशी शराब के साथ महिला सहित दो तस्करों को किया गिरफ्तार