यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

विधानसभा आए लेकिन कार्यवाही में शामिल नहीं हुए आजम


🗒 सोमवार, मई 23 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
विधानसभा आए लेकिन कार्यवाही में शामिल नहीं हुए आजम

लखनऊ । तकरीबन सवा दो साल जेल में बिताने के बाद पिछले हफ्ते रिहा हुए समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता और रामपुर के विधायक मोहम्मद आजम खां विधानसभा मंडप में सोमवार को दाखिल तो हुए लेकिन बजट सत्र की कार्यवाही में शामिल हुए बगैर चले गए। वह दसवीं बार विधायक चुने गए हैं।सोमवार को विधानमंडल के बजट सत्र के पहले दिन राज्यपाल के अभिभाषण से पूर्व विधान भवन पहुंचे आजम खां और रामपुर की स्वार टांडा सीट से विधायक उनके पुत्र अब्दुल्ला ने विधान सभा की सदस्यता की शपथ ली। शपथ लेने के बाद विधान सभा अध्यक्ष के कक्ष से बाहर निकल कर आजम सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले ही विधान सभा मंडप में दाखिल हुए।ई-विधान व्यवस्था के तहत उन्हें नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव के बगल में सीट आवंटित की गई है, लेकिन आजम अपनी सीट पर न जाकर सदन के गलियारे से होकर विधान सभा की लाबी में चले गए। वहां कुछ देर रुक कर वह लिफ्ट से भूतल पर उतरे और विधान भवन से चले गए।विधान भवन में अपनी मौजूदगी के दौरान आजम लगातार मीडिया से कन्नी काटते रहे। अलबत्ता सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से उनकी नाराजगी को लेकर किये गए सवाल पर उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि इन बातों का कोई वजूद नहीं हैं। यह पूछे जाने पर कि जेल में कैद के दौरान सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने क्या उनका हालचाल पूछा, आजम ने तंज भरे अंदाज में कहा कि शायद नेताजी के पास मेरा फोन नंबर न रहा हो।सदन में खामोशी ओढ़े रहे शिवपाल और अब्दुल्ला आजम : आजम बेशक सोमवार को बजट सत्र के दौरान राज्यपाल के अभिभाषण कार्यक्रम में सदन में मौजूद नहीं रहे लेकिन उनके पुत्र अब्दुल्ला आजम और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व सपा के टिकट पर जसवंतनगर से विधायक चुने गए शिवपाल सिंह यादव राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान विधान सभा मंडप में उपस्थित थे। यह बात और है कि सपा के अन्य सदस्यों की तरह उनके सर से लाल टोपी नदारद थी। अभिभाषण के दौरान सपा सदस्यों की ओर से विधान सभा मंडप में किये गए हंगामे और नारेबाजी से भी दोनों ने खुद को दूर रखा। दोनों अपनी-अपनी सीट पर बैठकर इयरफोन लगाए अभिभाषण सुनते रहे।इससे पूर्व सुबह 10.30 बजे विधान सभा अध्यक्ष सतीश महाना ने आजम और उनके पुत्र अब्दुल्ला को अपने कक्ष में शपथ दिलाई। विधान सभा अध्यक्ष ने उन्हें संविधान की प्रति और विधान सभा कार्य संचालन नियमावली भेंट की। उन्होंने दोनों सदस्यों को बधाई देते हुए कहा कि वे विधान सभा में एक जागरूक और सफल विधायक के रूप में कामयाब हों, यशस्वी हों तथा सदन में होने वाली बहस में हिस्सा लेकर अपने क्षेत्र की जनता की समस्याओं के निराकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभायें। गौरतलब है कि जेल में रहने के कारण आजम खां अब तक शपथ नहीं ले सके थे। अब्दुल्ला ने भी अभी तक शपथ नहीं ली थी। कैराना से सपा के टिकट पर चुने गए नाहिद हसन को ही अब शपथ लेनी है। नाहिद इन दिनों जेल में बंद हैं

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» तेज आंधी के साथ बारिश से 21 लोगों की गई जान

» यूपी विधानसभा में बिजली गुल होने पर , तीन अभियंता निलंबित; उपकेंद्र परिचालक की सेवा समाप्त

» दुष्कर्म पीड़िता की इलाज के दौरान मौत

» रुपये दोगुना करने का झांसा देकर ठगे 23 लाख

» पी बजट सत्र के पहले दिन हंगामे के बीच हुई आजमाइश

 

नवीन समाचार व लेख

» यूपी विधानसभा में बिजली गुल होने पर , तीन अभियंता निलंबित; उपकेंद्र परिचालक की सेवा समाप्त

» गाना बजाने के विवाद में भिड़े बराती व घराती, एक की मौत

» तांत्रिक ने बच्ची की गर्दन काटने का किया प्रयास, ग्रामीणों को देखकर भागा

» शादी के बाद जेवर लेकर दुल्हन फरार

» एक्सप्रेस-वे पर डिवाइडर से टकराकर पलटी कार, दो लोग घायल