यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

"पानी संस्थान का ब्लाक स्तरीय इंटरफेस वर्कशाप


🗒 शुक्रवार, जून 17 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

लखनऊ -   पीपुल्स एक्शन फॉर नेशनल इंटिग्रेशन द्वारा ब्लाक सभागार में महिलाओं द्वारा आजीविका एवं जीवन हेतु जल का लोकतांत्रिक करण विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया । डीडब्ल्यूएफ़एलएल परियोजना के अंर्तगत आयोजित कार्यशाला का शुभारंभ बीडियो प्रतिभा जायसवाल द्वारा दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया । पानी संस्थान के ऑपरेशन हेड देवदत्त सिंह ने पानी संस्थान का परिचय दिया । भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे . अब्दुल कलाम द्वारा सन 2070 में बिना पानी के आने वाली स्थिति का जिक्र किया । जिसमें भविष्य में पेयजल की दुष्कर स्थिति का भी व्यवहारिक पक्ष शामिल रहा । संस्थान के परियोजना समन्वयक शिवानन्द शुक्ला ने परियोजना की रणनीति तथा उद्देश्य बताये । परियोजना माल विकास खण्ड की तीस ग्राम पंचायतों में संचालित की जा रही है । जिसका लक्ष्य सशक्त महिलाओं द्वारा जल हेतु दायित्वबोध के साथ निर्णय लेना,अपनी आजीविका में सुधार करना, सरकार की योजनाओं के द्वारा अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करना प्रमुख है । साथ ही भू-जल का लोकतांत्रिक नियोजन एवं प्रबंधन स्थानीय शासन प्रणाली के साथ मिलकर सुनिश्चित करना हैं । परियोजना के अंतर्गत अभी तक किए गए कार्यों का उल्लेख करते हुए बताया की परियोजना के अंतर्गत चयनित 30 ग्राम पंचायतों में 166 महिला संगठनों का गठन किया गया है जिससे 6106 आकांक्षी परिवार जुड़े हैं । सभी संगठनों को ग्राम पंचायत के ग्राम प्रधानों एवं वार्ड मेंबर को संगठन के प्रबंधन, पंचायती राज अधिनियम तथा जल केंद्रित ग्राम पंचायत विकास योजना के निर्माण का प्रशिक्षण दिया जा चुका है । उद्घाटन कार्यशाला को संबोधित करते हुए खण्ड विकास अधिकारी ने कहा की पानी संस्थान द्वारा विकासखण्ड माल़ में परियोजना का संचालन करके सराहनीय पहल की गई है । उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा विकासखण्ड का जल स्तर नियमित रूप से कम होता जा रहा है । इसलिए अत्यंत आवश्यक है की इस परियोजना में सभी सक्रिय भूमिका निभायें । उन्होंने कहा कि पानी संस्थान महिला सशक्तीकरण एवं जल संरक्षण हेतु कार्य कर रहा है । प्रधान संघ की अध्यक्ष संयोगिता सिंह ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए महिला सशक्तिकरण व जल संरक्षण के महत्व पर चर्चा की ।कार्यशाला में सहायक विकास अधिकारी समाज कल्याण राकेश कुमार मिश्रा, ग्राम पंचायत सचिव सदगुरु, अतरिक्त कार्यक्रम अधिकारी नरेगा रामयश के साथ सभी तीस ग्राम पंचायतों के प्रधान, महिला महासंघ के सदस्य तथा पानी संस्थान के कर्मचारीगण उपस्थति रहे ।