यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

नौकरी के नाम पर बेरोजगारों संग धोखाधड़ी करने वाले दो शातिर ठग गिरफ्तार


🗒 रविवार, जून 19 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
नौकरी के नाम पर बेरोजगारों संग धोखाधड़ी करने वाले दो शातिर ठग गिरफ्तार

राजेश कुमार मिश्रा

कृष्णा नगर पुलिस का गुड वर्क,

लखनऊ,। कृष्णा नगर पुलिस ने सर्विलांस टीम की मदद से रविवार को नौकरी के नाम पर बेरोजगारों संग धोखाधड़ी कर मोटी रकम हड़पने वाले दो शातिरों ठगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने गिरफ्त में आए शातिरों के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में कार्रवाई कर जेल भेज दिया है। कृष्णा नगर कोतवाली प्रभारी आलोक राय ने बताया कि स्थानीय थाने व सर्विलांस टीम की मदद से रविवार को नौकरी के नाम पर बेरोजगारों संग धोखाधड़ी कर मोटी रकम हड़पने वाले दो शातिरों ठगों को थाना क्षेत्र स्थित स्काई हिल्टन के पास से गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्त में आए शातिरों के पास से सात हजार 70 रुपये नगद , दो मोवाइल फोन व एक की पैड मोवाइल, दो एटीएम कार्ड, पांच सिमकार्ड, पांच मेडिकल नियुक्ति पत्र, 20 अदद पम्पलेट व एक  मोटरसाइकल बरामद किया गया है। पुलिस पूछताछ में शातिरों ने अपना परिचय तसलीम पुत्र जबर अली निवासी सेक्टर पी मानसरोवर योजना रजनीखण्ड थाना आशियाना लखनऊ व अंकुर यादव पुत्र प्रमोद कुमार निवासी रुस्तमपुर थाना सदर जनपद उन्नाव हाल पता किराये का मकान 5/137 शारदानगर राजनीखण्ड थाना आशियाना  लखनऊ के रूप में दिया है। पुलिस पूछताछ में शातिरों ने बताया कि वह लोग बेरोजगार युवाओं युवतियों को नौकरी दिलाने के लिए लखनऊ व लखनऊ के आसपास के जिलों में अखबार में विज्ञापन छपवाकर प्रचार-प्रसार करते हैं। कोई व्यक्ति नौकरी हेतु हमसे संपर्क करता तो उसे अस्थायी आफिस खोलकर वहाँ बुलाते है। अभी हाल ही में हम लोगों ने एक आफिस एनडी काम्पलेक्स नियर कृष्णानगर मेट्रो के पास आफिस खोला था। नौकरी के लिये आये लोगों से डिपाजेट मनी के नाम पर 650 रुपये लेकर उस व्यक्ति के समस्त दस्तावेज पैन आदि डिटेल लेते हैं और इण्टरव्यू लेने के बाद बैरिफिकेशन, ट्रेनिंग के नाम पर 2250 रूपये से 10,000 रुपये तक प्रति व्यक्ति लिया जाता था। जो व्यक्ति उपरोक्त शर्त को पूरा करता है उसके मेडिकल हेतु मेडिकल अप्वाइंटमेंट लेटर दिया जाता था, ज्वाइनिंग के लोगों से 10 से 15 दिन बहाना बनाकर टाल मटोल करते हैं और मेडिकल हेतु मेडिकल फीस 6780 रूपये मांगते है, तथा जब वे लोग पूरे पैसा वापस मांगने लगते हैं तो हम लोग नम्बर बदलकर आफिस छोडकर वहाँ से दूसरी जगह चले जाते थे।इस तरह धोखाधडी करके लोगों से रुपया वसूलकर हम लोग अपना जीवन यापन करते हैं तथा शौक पूरा करते थे। पुलिस के मुताबिक ठगी के शिकार युवक संजय कुमार सिंह पुत्र जयहिंद निवासी बाराबंकी द्वारा शातिरों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। जिसे सर्विलांस टीम व स्थानीय थाने की टीम की मदद से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस टीम में उपनिरीक्षक सन्तोष कुमार गौड़ ,जितेन्द्र कुमार दुबे व सर्विलांश सेल के उपनिरीक्षक प्रशान्त वर्मा सहित  कांस्टेबल सन्तोष कुमार , मोहित सोनी व सर्विलांश सेल से कांस्टेबल अखिलेश कुमार व आशीष कुमार शामिल थे।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» पैदल घर जा रही अधेड़ महिला से बाइकसवार बदमाशों ने छीनी चेन

» प्रदर्शनकारियों ने जौनपुर में रोडवेज बस में लगाई आग

» राज्यपाल और सीएम योगी ने 10वीं व 12वीं में टॉप करने वाले विद्यार्थियों को दी बधाई

» 63 वां शेखमीर शाह बाबा का सालाना उर्स का अयोजन

» नौकरी के नाम पर ठगों ने युवक को लगाया हजारों का चूना

 

नवीन समाचार व लेख

» पैदल घर जा रही अधेड़ महिला से बाइकसवार बदमाशों ने छीनी चेन

» प्रदर्शनकारियों ने जौनपुर में रोडवेज बस में लगाई आग

» राज्यपाल और सीएम योगी ने 10वीं व 12वीं में टॉप करने वाले विद्यार्थियों को दी बधाई

» 63 वां शेखमीर शाह बाबा का सालाना उर्स का अयोजन

» नौकरी के नाम पर ठगों ने युवक को लगाया हजारों का चूना