यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पीड़िता की सुरक्षा में दो पीएसओ तैनात, एसएचओ सहित सात निलंबित


🗒 सोमवार, अगस्त 08 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पीड़िता की सुरक्षा में दो पीएसओ तैनात, एसएचओ सहित सात निलंबित

लखनऊ, । गौतमबुद्धनगर जिले के नोएडा के ग्रैंड ओमेक्स सोसायटी में श्रीकांत त्यागी के एक महिला से अभद्रता करने के मामले में सरकार बेहद ही सख्त है। शनिवार के प्रकरण में सोमवार को बड़ा एक्शन हो गया है।नोएडा के श्रीकांत त्यागी उर्फ लंगड़ा त्यागी के मामले में एडीजी (ला एंड आर्डर) प्रशांत कुमार ने बताया कि प्रकरण में शिथिलिता बरतने पर एक एसएचओ समेत सात पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है। इतना ही नहीं पीड़ित महिला की सुरक्षा में दो पीएसओ लगाए गए हैं। शनिवार शाम ओमैक्स अपार्टमेंट में हुए हंगामे के मामले में छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया, आज सुबह नोएडा फेज-2 के इंचार्ज को भी निलंबित किया गया है। उन्होंने बताया कि घटना को शासन ने गंभीरता से लेते हुए मुख्य आरोपित श्रीकांत त्यागी की गिरफ्तारी के निर्देश दिए हैं। प्रभारी निरीक्षक सुजीत उपाध्याय को निलंबित कर उनके स्थान पर इनकी जगह परमहंस तिवारी को फेज-2 कोतवाली प्रभारी बनाया गया है। इनके साथ ही दो सब इंस्पेक्टर और चार कांस्टेबल को निलंबित किया गया है।एडीजी प्रशांत कुमार ने श्रीकांत त्यागी के पास गनर की बात को सिरे से खारिज किया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में उसके पास कोई भी गनर नहीं था। एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि श्रीकांत त्यागी के पास तो फरवरी, 2020 के बाद से उत्तर प्रदेश पुलिस का कोई भी गनर नहीं था। वह अपने पर्सनल गनर रख सकता है, इस पर सरकार की तरफ से कोई अंकुश नहीं लग सकता है।एडीजी ने बताया कि पुलिस ने मौके से छह लोगों को हिरासत में लिया है। जिलाधिकारी के अनुसार श्रीकांत के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी। पुलिस उसकी संपत्ति भी कुर्क कर सकती है। ग्रैंड ओमेक्स सोसायटी में रात आठ बजे श्रीकांत त्यागी के समर्थक पीडि़ता के टावर का पता देकर सोसायटी में घुसे। वहां के सुरक्षाकर्मियों के मुताबिक पीडि़ता के घर पर कुछ मेहमान आने वाले थे। इस दौरान बिना नाम पढ़े लोगों को आने की स्वीकृति दे दी।भाजपा नेता श्रीकांत त्यागी का दो दिन पहले एक वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ था। इसमें वह सोसाइटी की एक महिला के साथ अभद्रता व मारपीट करते नजर आ रहा था। पुलिस ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। 25000 का इनामी श्रीकांत अभी फरार है। उसकी तलाश में छापेमारी जारी है।