यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

उत्तर प्रदेश पुलिस 2009-10 के कैंडिडेट जिनको सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी सरकार के कानो में नही रेंग रही जू


🗒 शुक्रवार, सितंबर 30 2022
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड
उत्तर प्रदेश पुलिस 2009-10 के कैंडिडेट जिनको सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी सरकार के  कानो में नही रेंग रही जू

लखनऊ -बसपा सरकार में 2009,10 में 35000 पुलिस आरक्षी भर्ती हुई।जिसमे बोर्ड की तरफ़ से पेपर में 6सवाल गलत थे।जिनके नम्बर कैंडिडेट को नही दिए।जिसकी वजह से काफी युवाओं को नौकरी नही मिल पाई।सभी कैंडिडेट कोर्ट में चले गए कोर्ट ने बच्चों के फेवर में आदेश दिया।आदेश में सभी कैंडिडेट को

6 गलत सवालों के

पूरे 7:5 नम्बर देके नियुक्ति देने का आदेश दिया लेकिन सरकार ने अभी तक लड़कों को नही लिया।

इस वजह से दिनांक 05/09/2022से लगातार ईको गार्डन में आमरण अनशन कर रहे है।

लेकिन अभी तो सरकार की तरफ़ से और भर्ती बोर्ड की तरफ़ से कोई जिम्मेदार अधिकारी नही आया है इसलिए

अनशन पर बैठे सभी हुऐ है

आमरण अनशन में शामिल कैंडिडेट

विपिन कुमार, प्रशांत, सतेंद्र पाल सिंह, अजीत पोनियां, रवेंद्र, नीरज वर्मा, हर्देश कुमार, मनीष कुमार, जगत प्रवेश, नीरज दिवाकर, मनोज, पंकज, राजीव, मोहन, आरिफ, वसीम, पॉप सिंह, सुनील, मिश्रा, राजन, गायत्री, लल्लन, प्रदीप, रवि यादव, संदीप यादव, इत्यादि।

जब तक सरकार कोई टोश आश्वासन नही देती है तब तक सभी कैंडिडेट आमरण अनशन करेंगे।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ मेट्रो में जल्द नजर आएंगे UPSSF के जवान

» इस बार नहीं अटकेगा 17 OBC जातियों को आरक्षण - संजय निषाद

» अपनी चिंता करें, बीजेपी के संपर्क में सपा के विधायक - भूपेंद्र चौधरी

» चार शातिर चोरों को पुलिस ने किया गिरफ्तार भेजा जेल

» पुलिस को जुआरियों के बारे में बताना युवक को पड़ा महंगा

 

नवीन समाचार व लेख

» गृह कलह से उब कर युवती ने खाया जहर

» उन्नाव सपा नेता की एक करोड़ की संपत्ति जप्त

» उड़ान सेवा संस्थान की ओर से बच्चों द्वारा की लगाई गयी मस्ती की पाठशाला,

» यूपी लोकसभा चुनाव की सभी सीटो में फहरेगा भाजपा का परचम: केशव प्रसाद मौर्य

» महोबिया पान किसानो को योजनाओ से जोड़कर करे लाभान्वित: केशव प्रसाद मौर्य